ताज़ा खबर
 

स्कूल में छात्र की पिटाई, शिक्षक पर मामला दर्ज

बच्चे के मुताबिक पिटाई करने वाले शिक्षक ने इस मामले की जानकारी घरवालों को देने पर नाम काटने की धमकी दी थी।
Author नई दिल्ली | July 26, 2017 02:03 am
प्रतिकात्मक तस्वीर।

दिल्ली के बवाना और नोएडा में बच्चों की स्कूल में हुई पिटाई के बाद अब निजामुद्दीन इलाके में 13 साल के एक बच्चे की स्कूल में शिक्षक द्वारा पिटाई करने का मामला सामने आया है। परिजनों का कहना है कि मंगलवार दोपहर स्कूल से आने के बाद पीड़ित बच्चा डरा-सहमा और गुमशुम था। जब परिजनों ने उसकी पीठ देखी तो उन्हें गंभीर चोटों का पता चला। बच्चे के मुताबिक पिटाई करने वाले शिक्षक ने इस मामले की जानकारी घरवालों को देने पर नाम काटने की धमकी दी थी। बच्चे की हालत देखकर परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने छात्र का एम्स में चिकित्सकीय परीक्षण कराया। इसमें उसकी पीठ में चोट की बात कही गई है। पुलिस आइपीसी की धारा 323 और 23 जेजे एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच कर रही है। दक्षिण-पूर्वी जिले के पुलिस उपायुक्त रोमिला बानिया के मुताबिक, मंगलवार को निजामुद्दीन पुलिस को सूचना मिली कि उसके इलाके के न्यू होराइजन पब्लिक स्कूल के 13 साल के एक छात्र को शिक्षक ने बुरी तरह पीटा है। पुलिस ने पीड़ित की एम्स में चिकित्सकीय जांच कराई। रिपोर्ट में डाक्टरों ने उसके पीठ पर चोट की बात कही है। इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया।

छठी के छात्र अकबर अली के पिता अमीर हसन ने बताया कि मंगलवार दोपहर 12:30 बजे जब उनका बेटा घर आया तो वह गुमशुम होकर बैठ गया। बार-बार पूछने पर वह रोने लगा। उसने अपनी पीठ दिखाई, जिस पर चोट के निशान थे। इसके बाद उसके परिजनों ने पीसीआर को सूचना दी और उसे लेकर स्कूल पहुंचे। स्कूल प्रशासन ने परिजनों से कहा कि जब आप पुलिस के साथ आए हो तो फिर बात क्या करना। अमीर हसन ने बताया कि हुमांयू के मकबरे के पीछे स्थित इस स्कूल में दो पालियों में पढ़ाई होती है। उनका बेटा पहली पाली में है। अकबर ने बताया कि पिटाई करने के बाद आरोपी शिक्षक ने धमकी दी थी कि अगर पिटाई के बारे में घर वालों को बताया तो स्कूल से नाम काट दूंगा। परिजनों का कहना है कि नाम काटने के डर से वह पिटाई की बात छिपा रहा था। इस संबंध में स्कूल प्रशासन से फोन पर बात करने की कोशिश की गई। लेकिन किसी से फोन नहीं उठाया।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग