May 27, 2017

ताज़ा खबर

 

आग में जलकर खाक हुई स्कूल बस, शिक्षिका ने सूझबूझ से बच्चों को बचाया

शिक्षिका शिवानी जैन और बस स्टाफ की सूझबूझ से 45 बच्चों को बाहर निकाल लिया गया।

Author नई दिल्ली | May 3, 2017 01:12 am
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

दिल्ली से सटे गाजियाबादके इंदिरापुरम इलाके में मंगलवार दोपहर स्कूली बच्चों से भरी एक बस में अचानक आग लग गई। धुंआ निकलते ही बस में बैठी शिक्षिका ने आनन-फानन में सभी बच्चों को बाहर निकाला। बच्चों के उतरते ही बस जलकर खाक हो गई। इंदिरापुरम के थाना प्रभारी प्रदीप कुमार त्रिपाठी का कहना है कि शुरुआती जांच में शार्ट सर्किट से आग लगने की बात सामने आई है। पुलिस अन्य बिंदुओं से भी मामले की जांच कर रही है। मामला इंदिरापुरम के अहिंसा खंड-2 के शांति गोपाल अस्पताल के पास के आशियाना ग्रीन चौराहे का है, जहां दोपहर को वैशाली के फादर एग्नेल स्कूल की बच्चों से भरी बस में अचानक आग लग गई। स्कूल शिक्षिका शिवानी जैन और बस स्टाफ की सूझबूझ से 45 बच्चों को बाहर निकाल लिया गया। एक छात्र शौैर्य ने बताया कि बस में धुआं निकलते ही मैम ने बच्चों से कहा कि अपना बैग छोड़ दो, और बाहर निकलो।

इसके बाद बस के इंजन से आग की लपटें निकलने लगीं और ड्राइवर कूद कर बाहर निकल गया। बस में बैठी शिक्षिका शिवानी ने साहस दिखाया और परिचालक अजय की मदद से बच्चों को बाहर निकाला। आग इतनी तेजी से फैली कि पांच बच्चे बस में फंस गए। उन्हें बस के शीशे तोड़कर बाहर निकाला गया। बच्चों के बाहर निकालने तक आग पूरी बस में फैल गई और धू-धूकर जल उठी। आग की सूचना मिलने दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया। इससे पहले स्थानीय दुकानदारों और राहगीरों ने आग बुझाने की कोशिश की, लेकिन वे कामयाब नहीं हो पाए। दमकल की टीम को बस के अंदर एक सीएनजी सिलेंडर भी मिला। अभिभावकों का कहना है कि अगर दमकल की गाड़ी देरी से पहुंचती तो आग से बस का सीएनजी टैंक व सिलेंडर फट जाता।

एक अभिभावक विकास मिश्रा ने बताया कि समय से पहुंची दमकल टीम और स्थानीय लोगों ने मोर्चा संभाला और आग पर काबू पाया गया। उधर स्कूल की प्रंबधन टीम से जुड़े रॉबिन थामस ने बताया कि दुर्घटना अचानक हुई थी। बस स्टाफ ने शिक्षिका के साथ तत्परता दिखाई और बच्चे सकुशल बाहर निकाल लिए गए। इसी बात का संतोष है। शुरुआती जांच में लापरवाही जैसी बातें सामने नहीं आई हैं। इसके बावजूद हम अपने प्रबंधन की तरफ से जांच कर रहे हैं। हालांकि बच्चों का कहना है कि बस में सिर्फ एक ही दरवाजा आगे था, जिससे बच्चों को निकलने में दिक्कत हुई। इस आग में शिक्षिका को मोबाइल और बैग जल गया। कुछ बच्चों के बैग भी आग में खाक हो गए।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on May 3, 2017 1:12 am

  1. No Comments.

सबरंग