ताज़ा खबर
 

नोटबंदी पर रोजाना नए फरमान से जनता बेहाल

नोटबंदी के बाद 500 और 1 हजार रुपए के नोट जमा कराने पर हर रोज नए नियमों से आम जनता उकता गई है।
Author नोएडा | December 22, 2016 02:34 am
सांकेतिक फोटो।

नोटबंदी के बाद 500 और 1 हजार रुपए के नोट जमा कराने पर हर रोज नए नियमों से आम जनता उकता गई है। अलबत्ता घंटों कतार में लगकर बैंक शाखा के अंदर पहुंचने वाले ग्राहकों की आवाज नियमों के खिलाफ आवाज दबाई जा रही है। आरोप है कि बैंक प्रबंधक नई करंसी देने और पुराने नोटों को जमा कराने को लेकर मनमानी कर रहे हैं। जबकि 8 नवंबर को नोटबंदी का ऐलान करते समय प्रधानमंत्री मोदी ने 30 दिसंबर तक बैंकों में पुराने जमा करने का ऐलान किया था।

हालिया मामले में बुधवार दोपहर करीब 12 बजे को विजया बैंक की सेक्टर- 18 शाखा के प्रबंधक ने ग्राहक के खाते मे 25 हजार रुपए के पुराने नोट जमा करने से इनकार कर दिया। ग्राहक के नाराज होने पर बाकायदा कैशियर ने जमा पर्ची पर लिखा-आरबीआइ की नीति के तहत, हम 5 हजार रुपए से ज्यादा की रकम खाते में जमा नहीं कर सकते हैं….गुस्से से झल्लाते हुए ग्राहक ने बाहर आकर बैंक अधिकारियों पर तानाशाही का आरोप लगाया। संवाददाता ने इस मामले पर दोपहर करीब 3.30 बजे शाखा के टेलीफोन पर संपर्क किया, तो वहां मौजूद प्रबंधक ने बताया कि दोपहर 3 बजे 5 हजार रुपए से ज्यादा रकम जमा पर लगी रोक अब हट चुकी है। लिहाजा उक्त ग्राहक 25 हजार रुपए 22 दिसंबर को बैंक में जमा करा सकता है।

प्रबंधक के मुताबिक 19 दिसंबर से आरबीआइ ने 5 हजार रुपए से ज्यादा रकम के पुराने नोट खाते में जमा कराने पर रोक लगा दी थी। जिसके चलते बैंक तब से किसी भी खाते में 5 हजार रुपए से ज्यादा रकम जमा नहीं कर रहे थे। दोपहर करीब 3 बजे इस नियम को हटा लेने की सूचना मिली है। लिहाजा आरबीआइ से नया निर्देश जारी होने तक पुराने नोट जमा किए जाएंगे। सूत्रों के अनुसार खातों में 5 हजार रुपए तक ही पुराने नोट जमा किए जाने के नियम का विरोध खुद बैंक अधिकारियों ने किया। केवाइसी माकनों के पूरा करने के बाद खुले खातों में 30 दिसंबर से पहले नोट जमा कराने के नियम को बदलने का विरोध किया था। उसके बाद बुधवार को आरबीआइ ने निर्देश वापस लिया है। जानकारों के अनुसार पिछले तीन दिनों में नोएडा की करीब 450 से ज्यादा बैंक शाखाओं में हजारों की संख्या में 5 हजार रुपए से ज्यादा रकम के पुराने नोट जमा कराने वालों को लौटाया गया है। उल्लेखनीय है कि नोटबंदी के ऐलान के बाद लोग बैंक प्रबंधकों पर तानाशाह रवैया अपनाने का आरोप लगा रहे हैं।

 

क्या नोटबंदी के 50 दिन बाद होगा कोई चमत्कार?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.