June 26, 2017

ताज़ा खबर
 

केजरीवाल के खिलाफ शिकायत की जांच नहीं करने पर नोएडा पुलिस को फटकार

नोएडा पुलिस के अधिकारी ने अदालत के सामने दलील दी कि शिकायतकर्ता विप्लव अवस्थी की ओर से बताई गई कथित घटना की पुष्टि नहीं हो सकी और शिकायत झूठी थी।

Author नई दिल्ली | April 12, 2017 03:09 am
आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (PTI Photo)

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके रिश्तेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के चलते कथित तौर पर हमले का सामना करने वाले एक व्यक्ति की ओर से दर्ज कराई गई प्राथमिकी पर उपयुक्त कार्रवाई नहीं करने को लेकर दिल्ली की एक अदालत ने पुलिस की खिंचाई की है। नोएडा पुलिस के अधिकारी ने अदालत के सामने दलील दी कि शिकायतकर्ता विप्लव अवस्थी की ओर से बताई गई कथित घटना की पुष्टि नहीं हो सकी औमर शिकायत झूठी थी।

इस बीच, केजरीवाल और अन्य के खिलाफ अनियमितता के आरोप की जांच कर रही भ्रष्टाचार रोधी शाखा ने अवस्थी सहित तीन शिकायतकर्ताआें को खतरे के आकलन पर एक विस्तृत स्थिति रिपोर्ट भी दाखिल की है। बहरहाल, अदालत ने स्थिति रिपोर्ट पाने के बाद मामले की अगली सुनवाई 26 अप्रैल तय कर दी। नोएडा पुलिस की रिपोर्ट से नाखुश मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अभिलाष मल्होत्रा ने कहा कि आरोपों की जांच किए बगैर एजंसी इस निष्कर्ष पर नहीं पहुंच सकती कि शिकायत झूठी थी। शिकायतकर्ताओं को खतरे का आकलन करने पर अदालत के पहले के आदेश के अनुपालन में पुलिस ने स्थिति रिपोर्ट दाखिल की थी। मजिस्ट्रेट ने कहा कि अदालत छानबीन कैसे कर सकती है? आपने कोई दस्तावेज नहीं जमा किया है। आपने हर चीज मौखिक की है। क्या अदालत आपकी मौखिक दलील पर छानबीन करेगी? कोई फाइल या दस्तावेज नहीं है। आप केस डायरी नहीं लाए। मजिस्ट्रेट ने नोएडा पुलिस को 26 अप्रैल को एक विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने को कहा।

बता दें कि दिल्ली और नोएडा के अलग-अलग पुलिस थानों में तीन प्राथमिकियां दर्ज करा कर आरोप लगाया गया था कि केजरीवाल, उनके करीबी रिश्तेदार सुरेंदर बंसल (एक कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक) और एक लोक सेवक के खिलाफ अदालत में एक आपराधिक शिकायत करने के बाद शिकायतकर्ताओं को धमकी मिली है और उन पर हमला हुआ है। दिल्ली में सड़कों और सीवर लाइनों के ठेके देने में कथित अनियमितता बरते जाने को लेकर यह शिकायत दर्ज कराई गई थी।

 

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ जारी हुआ जमानती वारंट; पीएम मोदी की शैक्षणिक योग्यता पर की थी टिप्पणी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 12, 2017 3:09 am

  1. No Comments.
सबरंग