December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

ग्रेटर नोएडा गैंगरेप: तीनों पीड़िताओं ने बयान की आपबीती, 20 वर्षीय पीड़िता ने कहा- मैं गिड़गिड़ाती रही कि मेरे पेट में छह महीने का बच्चा है

ग्रेटर नोएडा में बुधवार तड़के छह लोगों ने तीन महिलाओं के संग कथित रूप से बलात्कार और लूटपाट की थी।

ग्रेटर नोयडा में जहां सामूहिक बलात्कार हुआ वहां की एक तस्वीर।

दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र के ग्रेटर नोएडा में बुधवार (दो नवंबर) को तड़के तीन महिलाओं के संग छह हथियाबंद लोगों ने कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया। उन्होंने महिलाओं के संग मारपीट की, उन्हीं के घर खाना खाया और जाते समय पीड़िताओं की छह मुर्गियां भी ले गए। अभी तक मामले में किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। तीनों पीड़ित महिलाएं स्थानीय ईंट भट्ठे पर काम करती थीं। अपने संग हुए हादसे को बयान करते हुए 45 वर्षीय पीड़िता ने मीडिया से कहा, “वो मेरी बेटी की उम्र का था। मैंने जब विरोध किया तो वो मेरे बच्चों को मारने लगा और बंदूक दिखाकर मेरे संग बलात्कार किया….उसने मुझे बहुत बुरी तरह मारा।” यमुना एक्सप्रेसवे से सटे जेवर स्थित ईंटभट्टे में काम करने वाले मजदूरों की बस्ती में छह लोग कथित तौर पर इन महिलाओं के घर में घुस गए। पीड़िताओं के अनुसार आरोपियों ने महिलाओं के संग रेप करने से पहले घर के पुरुषों और लड़को को बांध दिया था। सभी आरोपियों की उम्र 25 से 35 के बीच थी। उन्होंने जींस, टीशर्ट और चप्पल पहन रखी थी।

20 वर्षीय एक पीड़िता ने हिंदुस्तान टाइम्स अखबार को बताया, “हम घर के अंदर सो रहे थे तभी वो लोग आए…वो मेरे पति को खींचकर बाहर ले जाने लगे तो मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की। उन्होंने मुझे मारापीटा और एक कमरे में ले जाकर मेरा बलात्कार किया। उनमें से एक आदमी बंदूक लेकर कमरे के दरवाजे पर पहरा दे रहा था।” पीड़िताओं के अनुसार लूटेरे करीब दो घंटे तक उनके घर में रहे थे। पीड़िताओं में एक अन्य 20 वर्षीय विधवा भी थी। विधवा महिला ने उनमें से एक के सिर पर डंडे से मारा लेकिन इससे वो और क्रोधित हो गया। उसने अपने साथी के साथ मिलकर महिला को बुरी तरह डंडे से पीटा। महिला के अनुसार, “वो मुझे तब तक मारते रहे फिर एक भारी-भरकम आदमी मुझे दूसरे कमरे में ले गया और मेरे साथ बलात्कार किया। मैं गिड़गिड़ाती रही लेकिन उसने मेरी एक नहीं सुनी…”

वीडियो: भोपाल एनकाउंटर से जुड़ा एक नया ऑडियो सामने आने का दावा-

पीड़िताओं के अनुसार सभी लूटेरों ने यह कहकर खर का दरवाजा खुलवाया कि वो पुलिसवाले हैं और एक मामले में उन्हें घर की तलाशी लेनी है। पीड़िता ने बताया, “मैं गिड़गिड़ाती रही कि मेरे पेट में छह महीने का बच्चा है लेकिन उन्होंने मेरी बात नहीं सुनी …बाद में पास खड़े दूसरे गैंग ने उनसे कहा कि इसे छोड़कर दूसरी महिला के पास चले जाओ।” आरोपियों ने घर से जाते समय सभी पीड़ित महिलाओं को एक ही कमरे में बंद कर दिया था और उनके कीमती आभूषण छीन लिए थे। पुलिस अभी सभी संदिग्धों की जांच कर रही है। पुलिस के अनुसार ये स्थानीय लोगों का काम हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 4, 2016 12:03 pm

सबरंग