ताज़ा खबर
 

बेटियों के कंधे पर निकली ‘गुटखा किंग’ की शव यात्रा, जमकर हुआ डांस 

सुबह नोएडा के सेक्टर-40 स्थित घर से गाजे-बाजे के साथ निकाली गयी और उनकी एक बेटी ने उन्हें मुखाग्नि दी।
अंतिम यात्रा में शामिल बेटियां।

‘गुटखा किंग’ के नाम से मशहूर पान सेलर्स वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हरिभाई लालवानी (65) का पार्थिव शरीर आज पंचतत्व में विलीन हो गया और उनकी चारों बेटियों ने उनकी अर्थी को कंधा देकर नया इतिहास रच दिया। हरिभाई लालवानी की शव यात्रा आज सुबह नोएडा के सेक्टर-40 स्थित घर से गाजे-बाजे के साथ निकाली गयी और उनकी एक बेटी ने उन्हें मुखाग्नि दी। गुरूवार रात लालवानी को मस्तिष्काघात हुआ था जिसके बाद गंभीर हालत में उन्हें नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार को उन्होंने दम तोड़ दिया। लालवानी की बेटी अनीता लालवानी ने बताया कि उन्होंने मृत्यु से पहले यह इच्छा जतायी थी कि जब उनकी मौत हो तो उनकी शव यात्रा किसी उत्सव के समान निकाली जाये इसलिए उनकी शव यात्रा में जमकर नाच गाना भी हुआ।

प्रिन्स गुटखा के मालिक रहे लालवानी वर्ष 1990 के दशक में नोएडा एन्टरप्रेन्योर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बने थे। अध्यक्ष रहते हुए उन्होंने वर्ष 1994 में हुए बहुर्चिचत नोएडा आवासीय आबंटन घोटाला को जोर-शोर से उठाया था, जिसमें नोएडा प्राधिकरण की तत्कालीन मुख्य कार्यपालक अधिकारी नीरा यादव एवं आईएस अधिकारी राकेश कुमार को सीबीआई की अदालत ने सजा सुनायी थी।दिल्ली में एक पान की दुकान से अपना कारोबार शुरू करने वाले हरिभाई लालवानी वर्ष 1990 के दशक में ‘गुटखा ंिकग’ के नाम से मशहूर हो गये।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.