ताज़ा खबर
 

अयोध्या में विकास के अध्याय का आगाज नहीं

अयोध्या विकास की अनेक योजनाएं मोदी सरकार के तीन साल बीत जाने के बाद भी धरती पर उतर नहीं सकी हैं।
Author फैजाबाद  | May 31, 2017 04:33 am

त्रियुग नारायण तिवारी

अयोध्या विकास की अनेक योजनाएं मोदी सरकार के तीन साल बीत जाने के बाद भी धरती पर उतर नहीं सकी हैं। अयोध्या के विकास के लिए मोदी सरकार ने पर्यटन और रेल की कई योजनाएं घोषित कर रखी हैं। कई मौकों पर पर्यटन मंत्री डॉक्टर महेश शर्मा, रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा अयोध्या आकर योजनाओं का एलान करने के अलावा शिलान्यास भी कर चुके हैं पर बात उससे आगे बढ़ी नहीं है।

जमीन तक नहीं मिली
अयोध्या में पर्यटन के लिए रामायण म्यूजियम, रामायण सर्किट तथा 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को पक्का कराने की कई बार घोषणाएं हो चुकी हैं परंतु अभी यह तय नहीं हो सका है कि इन योजनाओं को किस जमीन पर बनाया जाएगा। जिला प्रशासन अभी तक जमीन उपलब्ध नहीं करा सका है। मोदी सरकार के तीन साल पर बीते दिन फैजाबाद में जश्न भी मनाया गया। प्रदेश के ग्रामीण विकास मंत्री डॉक्टर महेंद्र सिंह ने विकास की अनेक योजनाएं गिनाईं। सांसद लल्लू सिंह ने एक पत्रिका का लोकार्पण भी किया जिसमें लेखा-जोखा था।

पत्रिका में लंबे-चौड़े दावे
पत्रिका में अयोध्या में रामायण संग्रहालय, रामायण सर्किट, सरयू नदी पार बेराज का निर्माण जैसी बड़ी योजनाओं का जिक्र है परंतु इनका अभी तक अता-पता नहीं है। इसी प्रकार से सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की ओर से अयोध्या में जानकी मार्ग, अयोध्या श्रीराम वनगमन मार्ग और अयोध्या से रायबरेली मार्ग की घोषणा की गई है।

सड़कें अभी कागज पर
रायबरेली मार्ग का शिलान्यास कार्यक्रम भी हुआ था लेकिन अभी तक कोई काम शुरू नहीं हुआ है। योजना के मुताबिक अयोध्या से अकबरपुर मालीपुर शाहगंज जौनपुर मार्ग तक भारत माला परियोजना के अंतर्गत फोर लेन बनाई जाएगी परंतु वह भी कागजों पर ही है।रेल महकमे ने बाराबंकी फैजाबाद अकबरपुर रेलवे स्टेशन तक रेलवे लाइन के दोहरीकरण के लिए 1200 करोड़ रुपए की लागत की योजना का शिलान्यास किया है परंतु अभी कोई प्रगति नहीं है।

रेल भी हवाहवाई
अयोध्या स्टेशन के विकास के लिए 80 करोड़ रुपए तथा प्लेटफार्म पर वाईफाई सुविधा भी हवाहवाई है अयोध्या से रामेश्वरम तक सीधी ट्रेन की मंजूरी, फैजाबाद से इलाहाबाद ट्रैक का उच्चीकरण, फैजाबाद से मनकापुर तक रेल लाइन का विद्युतीकरण, फैजाबाद स्टेशन का मॉडलिंग प्लेटफार्म विस्तार, वॉशिंग लाइन निर्माण की योजना अभी कागजों तक सीमित है। अयोध्या के चारो तरफ 84 कोसी परिक्रमा मार्ग को भी पक्का कराने की कई बार घोषणा की गई लेकिन वह भी अभी जमीन पर नहीं उतर सकी है।

 

बाबरी मस्जिद केस: 20 हजार के निजी मुचलके पर सीबीआई कोर्ट ने सभी 12 आरोपियों को दी जमानत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग