ताज़ा खबर
 

ग्रेटर नोएडा में नाइजीरियाई लड़की को अॉटो से उतारकर बुरी तरह पीटा, 2 दिनों में हमले की दूसरी वारदात

लड़की को कैलाश हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज जारी है।
27 मार्च को लोगों ने मनीष नाम के एक भारतीय छात्र की मौत के बाद एक मार्च निकाला था, जो हिंसा में तब्दील हो गया था।

ग्रेटर नोएडा में एक नाइजीरियाई लड़की को पीटने का मामला सामने आया है। दो दिन में नाइजीरियाई मूल के लोगों पर हमले की यह दूसरी वारदात है। लड़की को अॉटो से उतार पर बुरी तरह पीटा गया है। उसे कैलाश हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है, जहां उसका इलाज जारी है। डॉक्टरों ने कहा कि उसकी हालत स्थित है। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है और आरोपियों की तलाश की जा रही है। यह घटना ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क इलाके में हुई। लड़की ने जब पीटे जाने का विरोध किया तो उसे और पीटा और फिर हमलावर फरार हो गए। मंगलवार को ही पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने विदेशी नागरिकों को पूरी सुरक्षा दिए जाने का भरोसा दिलाया था।

बता दें कि ग्रेटर नोएडा में 12वीं कक्षा के छात्र मनीष खरी की शनिवार (25 मार्च) को रहस्यमय हालात में मौत हो गई थी। और उसकी हत्या के आरोप इलाके के लोगों ने कुछ नाइजीरियाई छात्रों पर लगाए थे। इसके बाद लोगों ने (27 मार्च) को इलाके में एक मार्च निकाला था, जो हिंसा में तब्दील हो गया। पुलिस के कहा था कि मार्च निकालने के दौरान इलाके में मौजूद एक शौपिंग एरिया में मौजूद कुछ नाइजीरियाई छात्रों पर लोगों ने हमला कर दिया। पुलिस ने इस मामले में तकरीबन 600 लोगों के खिलाफ दंगा भड़काने और 44 लोगों पर हत्या की कोशिश का केस भी दर्ज किया है। इसके बाद मामले को लेकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट भी किया था। उन्होंने ट्वीट के जरिए मामले की निष्पक्ष जांच कराने का आश्वासन दिया था और इसके बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी बात की थी।

इस मामले को लेकर एक नाइजीरियाई शख्स सादिक बेल्लो ने ट्वीट कर सुषमा स्वराज से इस मामले में दखल देने की बात कही थी। सादिक ने ट्वीट के जरिए कहा था- “आपको(स्वराज) इस मामले में जल्द ही कोई एक्शन लेना होगा। नोएडा में हमारे लिए जीना मुश्किल होता जा रहा है और हमारी जान को खतरा है”

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय समुदाय के कैथोलिक पादरी पर चाकू से हमला, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.