ताज़ा खबर
 

न्यूयॉर्क टाइम्स ने योगी आदित्य नाथ को बताया आतंकी संगठन हिन्दू युवा वाहिनी का सरगना, लिखा- एक महंत चढ़ रहा राजनीतिक सीढ़ियां

अखबार ने लिखा है, "योगी की पहचान एक ऐसे मंदिर के पुजारी के रुप में है जो अपने आतंकवादी हिंदू सर्वोच्च जातिवादी परंपरा के लिए कुख्यात है।
योगी आदित्यनाथ ने 19 मार्च को यूपी के नए सीएम की जिम्मेदारी संभाली है।( Photo Source: PTI )

अमेरिका के मशहूर अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आतंकी संगठन हिन्दू युवा वाहिनी का सरगना बताया है और लिखा है कि देश की सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य में एक ऐसे महंत को शासन करने के लिए चुना गया है जो पहले से ही नफरत भरे बोल बोलता रहा है। अखबार की वेबसाइट पर “हिन्दुस्तान में एक फायरब्रांड हिन्दू पुजारी राजनीतिक सीढ़ियां चढ़ता” शीर्षक से लिखे आलेख में कहा गया है कि योगी आदित्यनाथ को अधिकांश लोग योगी कहकर ही पुकारते हैं। अखबार ने लिखा है कि योगी एयर कंडीशनर यूज नहीं करते हैं और जमीन पर सोते हैं। वो कई बार रात में सिर्फ एक सेव खाकर रहते हैं।

अखबार ने लिखा है, “योगी की पहचान एक ऐसे मंदिर के पुजारी के रुप में है जो अपने आतंकवादी हिंदू सर्वोच्च जातिवादी परंपरा के लिए कुख्यात है। उन्होंने मुसलमान शासकों द्वारा ऐतिहासिक गलतियों का बदला लेने के लिए युवाओं की एक सेना (हिन्दू युवा वाहिनी) बनाई है, जिसका मकसद दो पैर वाले जानवरों (मुस्लिमों) की फसल को रोकना है। अखबार ने लिखा है कि एक चुनावी रैली में उन्होंने चिल्लाकर कहा था, “हम सभी धार्मिक युद्ध की तैयारी कर रहे हैं।”

अखबार ने यह भी लिखा है कि देश में विकास की बात कहकर तीन साल पहले दिल्ली की सत्ता पर काबिज होने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास के एजेंडे की जगह हिन्दुत्व ने ले ली है। अखबार ने लिखा है, “भारत को ‘हिंदू राष्ट्र’ में परिवर्तित करने के लिए लोकलुभावन अभियान ने मोदी के विकास के एजेंडे को डुबो दिया है, देश के 17 करोड़ मुसलमान आर्थिक और सामाजिक हाशिए पर चले गए हैं।”

अखबार के मुताबिक देश के सबसे बड़ी आबादी वाले राज्य का मुखिया चुनना एक बड़ा राजनीतिक मायने रखता है क्योंकि यूपी से होकर दिल्ली की सत्ता तक जाने वाले रास्ते का मुखिया भविष्य का प्रधानमंत्री भी हो सकता है। अखबार ने इशारा किया है कि 45 साल के योगी को राजनीतिक सूझ-बूझ से इसके लिए राजनीतिक सीढ़ियां चढ़ाया जा रहा है। बता दें कि योगी आदित्य नाथ ने 19 मार्च को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उनके नाम का एलान अचानक किया गया था, उससे पहले केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा नाम आगे चल कहा था लेकिन अचानक योगी को चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली बुलाया गया था, फिर विधायक दल की बैठक में उनके नाम का एलान कर दिया गया था।

nytimes.com पर प्रकाशित खबर के अंश। (स्क्रीनशॉट)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Z
    ZAID AHMAD
    Jul 14, 2017 at 3:07 am
    Berozgari to Badh hi gyi h.. Chus lo Bhiya Bharat ko Mandir Masjid ke naam pr... Hamey gulami hi psnd h or Gulami banana bhi.. Musalman Hindu ko.. Or Hindu Musalmano ko... Cheen or Pakistan ko Sayad Thapaad marney Ka vaqt hi na Nikal paye hm.. Hmey to mullon ko Masjid se Nikal kr Thappad marney main mza aata h... 10 or masjidon se mullon ko pitiye... Isay Ram, Sita or Laxman prakat hongi or Aap ko vardaan hasil ho jayega... Or vardaan milay na milay... Mujhey desh Ka Gadaar zaroor keh dijiyega.. Q ki mujhey Bhartiye honey pr grv hai.. Or Aap jaysay Gundo or Mavaliyon ki certification ki zarurat nahi... HINDUSTAN ZINDABAD
    (0)(0)
    Reply
    1. A
      AP Bharati
      Jul 13, 2017 at 8:47 pm
      थैंक्स Nyt
      (0)(0)
      Reply
      1. D
        Dev Verma
        Jul 13, 2017 at 7:27 pm
        मेरे को लगता है की इंडिया में हे नहीं अमेरिका में भी बहुत लोगो की फट रही है. किया बड़ी बात है अगर योगी हिन्दू है और सक्सेस की सीडी चढ़ रहा है..नई यॉर्क टाइम्स को किया प्रॉब्लम है. लोगो के फुट्टे में लात क्यों गुससा रहे हो....
        (0)(0)
        Reply
        1. D
          dhdhzbbs
          Jul 13, 2017 at 9:16 pm
          Chup reh aatankwadi
          (0)(0)
          Reply
        2. K
          kk
          Jul 13, 2017 at 3:48 pm
          पूंजीवादी रास्ता ही है, जो आर्थिक, राजनितिक, सामाजिक, अध्यात्मिक रूप से पतित होकर फासीवाद का रूप ले चूका है! व्यक्तिवाद, धर्म, देशवाद हथियार हैं इसके जनता के प्रतिरोध को तोड़ने के लिए और अपना शोषण को बढ़ने के लिए!
          (0)(0)
          Reply