ताज़ा खबर
 

यूपी: लाखों रुपए के 500 और 1000 के नोटों को मशीन से काटकर सड़क पर फेंका, कतरन देख लोग हैरान, उठा ले गए घर

इससे पहले भी नोटों को ठिकाने लगाने के मामले में सामने आ चुके हैं। यूपी के बरेली में 500 और 1000 रुपए के जले हुए नोट पाए गए थे। कथित तौर पर एक कंपनी के कर्मचारी बोरियों में भरकर नोटों को लाए और उसके बाद उन्हें जलाया गया। व
तमिलनाडु के एक शख्स ने जमा किए 246 करोड़ रुपए। (Representative Image)

ब्लैक मनी पर मोदी सरकार के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद लगातार पुराने नोटों को नष्ट करने की खबरें सामने आ रही है। काला धन रखने वाले लोग नोटों को ठिकाने लगाने के लिए हर संभंव कोशिश कर रहे हैं। यूपी के मेरठ में परतापुर पुलिस चौकी के पास लाखों रुपए के 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों की कतरन मिली है। पुराने नोटों को किसी मशीन से बारीक टुकड़े कर दिए गए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक कुछ लोग इस कतरन को भरकर भी ले गए हैं। जिले की डीएम बी. चंद्रकला ने मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। सड़क पर जगह-जगह नोटों की कतरन देखकर लोग हैरान रह गए। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर कतरन पॉलीथिन में भरकर उठवा ली। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है कि यह नोट किसने फेंके हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले भी नोटों को ठिकाने लगाने के मामले में सामने आ चुके हैं। यूपी के बरेली में 500 और 1000 रुपए के जले हुए नोट पाए गए थे। कथित तौर पर एक कंपनी के कर्मचारी बोरियों में भरकर नोटों को लाए और उसके बाद उन्हें जलाया गया। वहीं, मिर्जापुर में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था। यहां गंगा नदी में हजार के नोट पानी में बहते हुए पाए गए थे। गंगा नदी में तैरते हुए नोटों की कीमत लाखों रुपए बताई जा रही है। स्थानीय लोगों ने नोट देखकर पुलिस को इसकी सूचना दी थी। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में कचरे में नोटों से भरे दो बैग बरामद किए गए थे।

हाल ही में राजस्थान में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब कार में रखे हुए नोटों के आग लग गई। नोट एसयूवी के बोनट और इंजन के बीच में जो खाली जगह होती है, वहां छिपा कर ले जाए जा रहे थे। यह घटना रायगढ़-चुरू रोड की है। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि गाड़ी हरियाणा की तरफ से आ रही थी और चरु जा रही थी। लेकिन अचानक इंजन में आग लग गई और नोट जलने लगे। इसके बाद आरोपी गाड़ी में रखे बचे हुए नोटों को लेकर फरार हो गए थे।

नोटबंदी: फैसले के बाद कैसे चल रहा है मजदूरों का गुजारा, देखिए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग