ताज़ा खबर
 

योगी सरकार डिज़नीलैंड की तर्ज पर बनाएगी ‘कृष्ण लैंड’, भगवान कृष्ण के जन्म वाली जेल से लेकर युमना नदी तक होगी मौजूद

पर्यटन विभाग के अधिकारी ने बताया कि हम भगवान कृष्ण के जीवन के पूरे चरण के पुनर्निर्माण की योजना बना रहे हैं। इसी तर्ज पर कृष्ण लैंड के अंदर जेल होगी, जिसमें देवकी और वासुदेव कैद रहे थे और यही कृष्ण का जन्म हुआ था।
गायों को चारा खिलाते यूपी सीएम योगी आदित्य नाथ (file photo)

योगी आदित्य नाथ के नेतृत्व वाली सरकार राज्य में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लगातार काम कर रही है। योगी आदित्य नाथ सरकार ने डिज़नीलैंड (Disneyland) की तर्ज पर भगवान श्रीकृष्ण के जन्म स्थान मथुरा में ‘कृष्णा लैंड’ (Krishna Land) विकसित करने की तैयारी कर रही है। यूपी के पर्यटन विभाग को कृष्ण लैंड बनाने के लिए खाका (ब्लू प्रिंट) तैयार करने के लिए कहा है। सरकार की प्लानिंग इस योजान को इसी साल शुरू करने की है। इस प्रोजेक्ट के लिए फंडिंग पर्यटन क्रार्यक्रम के तहत वर्ल्ड बैंक (World Bank) की ओर से की जाएगी। पर्यटन विभाग के एक अधिकारी के मुताबिक कृष्ण लैंड बनाने का विचार अमेरिका में बने डिजनी लैंड पर आधारित है।

पर्यटन विभाग के अधिकारी ने बताया कि हम भगवान कृष्ण के जीवन के पूरे चरण के पुनर्निर्माण की योजना बना रहे हैं। इसी तर्ज पर कृष्ण लैंड के अंदर जेल होगी, जिसमें देवकी और वासुदेव कैद रहे थे और यही कृष्ण का जन्म हुआ था। अधिकारी के मुताबिक हम यमुना जैसी कृत्रिम नदी भी बनाएंगे जो कि कृष्ण के जीवन के कई पहलुओं से जुड़ा हुआ है। एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक बृज क्षेत्र को टूरिस्ट हब बनाने का फैसला हाल ही में लखनऊ में हुई एक मीटिंग में लिया गया था। राज्य के मुख्यमंत्री ने खुद से कृष्ण लैंड प्रोजेक्ट को लेकर रुचि दिखाई थी और जल्द से अधिकारियों को इसे लेकर प्रस्ताव तैयार करने के लिए कहा था।

बता दें कि इससे पहले प्रसिद्ध अभिनेत्री और मथुरा से भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने भी भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा में एक अंतरराष्ट्रीय स्तर का ‘कृष्ण थीम पार्क’ बनाए जाने की इच्छा जताई थी। साथ ही वित्त मंत्री अरूण जेटली से इसके लिए पर्याप्त धनराशि मुहैया कराए जाने की मांग भी की थी। हेमा मालिनी ने वित्त विधेयक 2017 पर लोकसभा में हो रही चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा था कि वह मथुरा में अंतरराष्ट्रीय स्तर का ‘कृष्ण थीम पार्क’ बनाना चाहती हैं और उम्मीद करती हैं कि वित्त मंत्रालय इसके लिए धन मुहैया कराएगा। उन्होंने धार्मिक पर्यटन स्थलों को साफ सुथरा रखने की जरूरत बताते हुए कहा कि ऐसे स्थलों पर ठोस कचरा प्रबंधन संयंत्र लगाए जाने की आवश्यकता है ताकि तीर्थयात्रियों को इन स्थलों पर आध्यात्मिक भावना का अहसास हो सके।

GST का फुल फॉर्म तक नहीं बता पाए योगी सरकार के मंत्री

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on July 16, 2017 4:42 pm

  1. No Comments.