ताज़ा खबर
 

VIDEO: पशु चोरी करते हुए पकड़ा तो उतरवाए कपड़े, पेड़ से बांधकर बुरी तरह पीटा

पिछले दिनों यूपी, राजस्थान और गुजरात में कथित गौरक्षकों इस तरह की कई घटनाएं सामने आई हैं। पिछले महीने ग्रेटर नोएडा में कथित गौरक्षकों द्वारा दो लोगों की पिटाई का मामला सामने आया है।
ग्रामीणों ने पशु चोरी में दो लोगों को पकड़ा। (ANI Photo)

योगी राज में मंगलवार को यूपी के एटा में दो लोगों को पशु चोरी के आरोप में बुरी तरह से पीटा गया। ग्रामीणों ने कथित तौर पर चोरों के कपड़े उतारकर उन्हें पेड़ से बांध दिया गया। यह सिलसिला यही खत्म नहीं हुआ। उन्हें बुरी तरह से पीटा गया। यह पहली बार नहीं है कि जब कानून को इस तरह से अपने हाथ में लिया गया हो। इस घटना की पुष्टि करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक ने कहा, “मंगलवार को सुबह गांववालों ने पशु चुराते हुए दो लोगों को पकड़ा। जिनमें से एक भागने में कामयाब रहा। जबकि उसके साथी को ग्रामीणों ने दबोच लिया और पिटाई की। गांववालों ने दोनों की पिटाई की और पुलिस को सौंप दिया।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि लोगों ने चोरी के आरोप में पकड़े गए शख्स को घेर रखा है। भीड़ ने उस पर जमकर लात-घूसे बरसाए। इसके बाद उन लोगों ने उसे परेड कराया। इस दौरान बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। लेकिन किसी ने इसे नहीं रोका।

योगी आदित्य नाथ ने नसीहत देते हुए कहा था, “गाय के मामले में कुछ भी गैरकानूनी हो रहा है तो आप तुरंत पुलिस को शिकायत करें। आपको कानून हाथ में लेने की कोई जरूरत नहीं है। अगर राज्य में कहीं अवैध बूचड़खाने चल रहे हैं और गौतस्करी होने की रिपोर्ट मिलती हैं तो कानूनी व्यवस्था बनाये रखने वाली एजेंसियों को इसकी खबर दें। वे खुद इस पर कार्रवाई करेंगे।” यूपी के डीजीपी सुलखान सिंह ने चार्ज संभालते ही कहा था कि गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

(VIDEO SOURCE: Quint)

कब-कब सामने आए गौरक्षकों द्वारा पिटाई के मामले
पिछले दिनों यूपी, राजस्थान और गुजरात में कथित गौरक्षकों इस तरह की कई घटनाएं सामने आई हैं। पिछले महीने ग्रेटर नोएडा में कथित गौरक्षकों द्वारा दो लोगों की पिटाई का मामला सामने आया है। आरोप है कि जबर सिंह (35) और भूप सिंह (45) नाम के दो लोग एक गाय और उसके बछड़े को पास के गांव से लेकर आए थे और जब वे रास्ते में रुके तो गौरक्षकों ने उनपर हमला बोल दिया। जब उन लोगों को इस बात का भरोसा हुआ कि दोनों गौतस्कर नहीं है बल्कि डेयरी के काम से गाय को ले जा रहे हैं, तब उनको छोड़ा गया। इसी तरह गौतस्करी के आरोप में राजस्थान में पहलू खान नाम के शख्स की पिटाई की गई। बाद में अस्पताल में उसकी मौत हो गई थी।

 

 

यूपी डीजीपी ने जारी किया ऑर्डर- गाय मारने या तस्करी करने वालों पर रासुका या गैंगस्टर एक्ट लगाओ

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Jun 21, 2017 at 12:29 am
    पहलू खान डेरी के लिए गायों को ले जा रहा था उसको मार दिया गया, जबर सिंह और भूप सिंह भी गायों को डेरी के लिए ले जा रहे थे उनको छोड़ दिया गया. मुस्लमान को मार दो हिन्दू को छोड़ दो. यही तो है भारत का नया संविधान.
    (0)(0)
    Reply
    सबरंग