ताज़ा खबर
 

UP: फिर सामने आई परिवार की दरार, अखिलेश ने कहा: टिकट बंटवारे में बदलाव की जानकारी नहीं

मधुमिता हत्याकांड में आजीवन कारावास की सजा काट रहे अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि को टिकट दिया गया है।
Author लखनऊ | October 4, 2016 04:06 am
अखिलेश यादव और शिवपाल यादव।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार विधानसभा के आगामी चुनाव के लिए सपा के कुछ प्रत्याशियों में बदलाव के तहत अपने कुछ करीबी लोगों के टिकट काटे जाने के प्रति अनभिज्ञता जाहिर की और कहा कि अभी उम्मीदवारों में और बदलाव होंगे। दूसरी ओर, सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने कहा कि पार्टी में टिकट वितरण को लेकर कोई मतभेद नहीं है। अखिलेश ने नये सचिवालय भवन (लोकभवन) में राज्य मंत्रिमंडल की बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में सपा की सोमवार घोषित सूची में अपने करीबी समझे जाने वाले कुछ लोगों का टिकट काटे जाने के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा, ‘मुझे जानकारी नहीं है। मैं तो अभी इस कार्यालय का उद्घाटन कर रहा हूं। कल कानपुर में मेट्रो का शिलान्यास करूंगा। अभी तो (प्रत्याशियों में) जाने कितनी बदला-बदली होगी।’

टिकट वितरण में अपने अधिकार खत्म होने के सवाल पर पूर्व  सपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, ‘मैंने सब अधिकार छोड़ दिए हैं, अब सब अधिकार जनता के पास हैं।’ उन्होंने कहा, ‘अब या तो मैं सच बोलूं या पॉलिटिकल हो जाऊं। मैं अपनी कुछ आदतें नहीं बदल सकता।’मालूम हो कि सपा के प्रांतीय अध्यक्ष शिवपाल यादव द्वारा जारी सूची में 14 सीटों पर पूर्व में घोषित प्रत्याशियों को बदल दिया गया है। इनमें मेरठ की सरधना सीट से अतुल प्रधान का टिकट काटकर मैनपाल सिंह उर्फ पिंटू राणा को दिया गया है। प्रधान समाजवादी छात्रसभा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं और वह अखिलेश के करीबी माने जाते हैं। इस बीच, सपा महासचिव रामगोपाल यादव ने पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव और प्रांतीय अध्यक्ष शिवपाल यादव के साथ बैठक के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि टिकट वितरण को लेकर पार्टी में कोई मतभेद नहीं है।

आपराधिक मामलों में आरोपी अमन मणि त्रिपाठी को टिकट दिए जाने के सवाल पर यादव ने कहा कि इसमें कौन सी खास बात है। उन्हें पहले भी टिकट दिया गया था। विधानसभा की 14 सीटों पर उम्मीदवार बदले जाने को लेकर अखिलेश की अनभिज्ञता के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि टिकट देने का काम अध्यक्ष का होता है। दूसरी ओर मुख्यमंत्री ने विपक्ष को मुद्दाविहीन बताते हुए कहा कि कुछ ताकतें विकास पर बहस करने के बजाय चीजों को गलत तरफ ले जाना चाहती हैं। उन्होंने कहा, ‘विपक्षी दलों के पास कोई मुद्दा ही नहीं है। वे विकास का मुद्दा तो लाना ही नहीं चाहते।’

उन्होंने कहा, ‘प्रदेश में कुछ ताकतें हैं जो विकास पर बहस नहीं करेंगी। अगर भाजपा से पूछा जाए कि उन्होंने प्रदेश में अपने शासन के दौरान लखनऊ में, कानपुर में और दूसरी जगहों पर क्या काम किया है, तो वे क्या बता सकेंगे। हम तो विकास के मुद्दे पर काम कर कर रहे हैं। भाजपा चीजों को दूसरी तरफ ले जाना चाहती है।’ अखिलेश ने कहा, ‘मैंने तो सदन में जनता से वादा किया है कि अगला बजट भी मैं ही पेश करूंगा, लेकिन उसका फैसला तो जनता लेगी।’
उन्होंने कहा कि हमारे पास कई ऐसे उदाहरण हैं जब हमने परियोजनाओं को समय से पहले शुरू किया है। देश में इस बात की चर्चा हो रही है कि सरकारी परियोजनाएं समय से पहले पूरी की जा रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने अपने तमाम फैसलों में आने वाली पीढ़ियों के लाभ का ध्यान रखा है। हम ना केवल शहरों और गांवों को जोड़ रहे हैं, बल्कि समाज के हर वर्ग को राहत पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं।

पत्नी की हत्या के आरोपी अमनमणि त्रिपाठी को मिला टिकट

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) ने सोमवार को आगामी विधानसभा चुनाव के लिए नौ सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर दिए। इनमें कांग्रेस के बागी विधायक मुकेश श्रीवास्तव और कवयित्री मधुमिता हत्याकांड मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व विधायक अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि के नाम शामिल हैं। सपा के प्रांतीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की ओर से यहां जारी सूची के मुताबिक, कांग्रेस के बागी विधायक मुकेश श्रीवास्तव को बहराइच जिले की पयागपुर सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। वहीं, अमनमणि को महराजगंज जिले की नौतनवा सीट से टिकट दिया गया है। कवयित्री मधुमिता शुक्ल हत्याकांड में आजीवन कारावास  की सजा काट रहे पूर्व विधायक अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि पिछले साल अपनी पत्नी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के बाद अपनी ससुराल के लोगों द्वारा लगाए गए हत्या के आरोपों के घेरे में आए थे। उन्हें एक व्यापारी को धमकी देने के आरोप में लखनऊ में गिरफ्तार भी किया गया था।

सोमवार को घोषित सूची के मुताबिक, सुभाष राय को आंबेडकरनगर जिले की जलालपुर सीट से, मोहम्मद इरशाद को सहारनपुर की नकुड़ सीट से, संजय यादव को सोनभद्र की ओबरा सीट से, ऊषा वर्मा को हरदोई की सांडी सीट से सपा उम्मीदवार बनाया गया है। इसके अलावा पार्टी ने 14 सीटों पर अपने उम्मीदवार बदले भी हैं। आगरा की खैरागढ़ सीट से विनोद कुमार सिकरवार की जगह पक्षालिका सिंह को टिकट दिया गया है। इसके अलावा ललितपुर सीट से ज्योति लोधी की जगह चंद्रभूषण सिंह बुंदेला उर्फ गुड्डू राजू को उम्मीदवार बनाया गया है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग