ताज़ा खबर
 

सपा में दूरियां बरकरार, लोहिया की पुण्यतिथि में एक-दूसरे से बचते नजर आए शिवपाल-अखिलेश!

समाजवादी पार्टी में जारी लड़ाई खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। सपा परिवार में चल रही जंग एक बार फिर राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर देखने को मिली।
अखिलेश यादव और शिवपाल यादव।

समाजवादी पार्टी में जारी लड़ाई खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। सपा परिवार में चल रही जंग एक बार फिर राम मनोहर लोहिया की पुण्यतिथि पर देखने को मिली। इस क्रार्यक्रम में सभी दिग्गज (मुलायम, शिवपाल और अखिलेश) शामिल हुए लेकिन एक-दूसरे से बचते नजर आ रहे थे। सबने इस बात का ख्याल रखा कि किसी का आमना-सामना न हो। लखनऊ के लोहिया पार्क में अखिलेश यादव सुबह 10 बजे पहुंचे लोहिया की मूर्ति का माल्यार्पण किया और चले गए। टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक उसी वक्त समारोह में पहुंचे शिवपाल यादव मंच पर जाने की बजाय सीधे वीआईपी कमरे में चले गए। जिससे अखिलेश से सामना न हो। बता दें कि पिछले दिनों मुलायम परिवार की अतंकर्लह सतह पर आ गई थी, बाद में नेता जी इस पूरे मामले को शांत करने का प्रयास किया और कहा गया कि परिवार में सबकुछ ठीक है।

यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के समारोह में आने और इस तरह से चले जाने के बाद तमाम तरह के कयास लगाए जाने लगे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कहा जा रहा है कि अखिलेश अभी भी नाराज चल रहे हैं। इस कार्यक्रम में मुलायम सिंह भी शामिल हुए, लेकिन उनके आने से पहले अखिलेश जा चुके थे। समारोह में पहुंचे मुलायम ने लोहिया की मूर्ति पर माल्यार्पण किया।

वीडियो: मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का समाजवादी पार्टी में विलय हुआ

गौरतलब है कि इससे पहले समाजवादी पार्टी में अंदरुनी कलह सामने आई थी। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने मामले का निपटारा करते हुए अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह के बीच सुलह करवाई थी और कहा था कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं है। बीते दिनों सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने सीएम अखिलेश को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया था और उनकी जगह पर भाई शिवपाल सिंह यादव को यूपी ईकाई का प्रदेश अध्यक्ष बनाया था। इसके कुछ देर बाद ही अखिलेश ने चाचा शिवपाल सिंह से अहम मंत्रालयों की जिम्मेदारी वापस ले ली थी। हाल ही पूरे विवाद को खत्म करते हुए शिवपाल सिंह को उनके मंत्रालय वापस कर दिए गए थे।

READ ALSO: फ्लाइट में पैसेंजर ने कपड़े उतार फीमेल क्रू मेंबर से मांगी मदद, आपत्तिजनक टिप्पणी की

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग