December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

लखनऊ: अखिलेश यादव की ‘विकास रथ यात्रा’ से पहले आपस मे भिड़े सपा समर्थक

अखिलेश यादव के पांच करोड़ के "विकास रथ" पर पार्टी के प्रदेश प्रमुख शिवपाल यादव की तस्वीर नहीं है।

यूपी के सीएम अखिलेश यादव की विकास रथ यात्रा के पहले भिड़े समाजवादी पार्टी कार्यकर्ता (एएनआई ट्वीट)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की गुरुवार (3 नवंबर) को शुरू हो रही “विकास रथ यात्रा” से पहले समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। लखनऊ में यात्रा के आरंभ के समय सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव और पार्टी के यूपी प्रमुख शिवपाल सिंह यादव भी मौजूद रहे। अखिलेश की रथ यात्रा को हरी झंडी दिखाते हुए शिवपाल ने कहा, “मैं अखिलेश यादव को भी शुभ कामना देना चाहता हूं कि सपा की सरकार यूपी में आए।” शिवपाल ने अपने संबोधन में कहा कि हमारा लक्ष्य है कि यूपी में बीजेपी की सरकार न बन पाए। यूपी में अगले साल विधान सभा चुनाव होने वाले हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अखिलेश के “विकास रथ यात्रा” में करीब तीन हजार वाहन शामिल होंगे। 2001-02 से अब तक अखिलेश अब तीन रथयात्राएं निकाल चुके हैं। साल 2012 में विधान सभा चुनाव से पहले भी अखिलेश ने यात्रा निकाली थी। यूपी में अगले साल विधान सभा चुनाव होने वाले हैं।

अखिलेश ने यात्रा शुरू करने से पहले कार्यकर्ताओं से कहा, “ये सरकार दोबारा लाने का समय है। लोगों ने साजिश की, हम थोड़ा सा डगमगाए हैं।” अपनी “विकास रथ यात्रा” के लिए सीएम अखिलेश ने हाईटेक रथ तैयार करवाया है। इसके जरिए सीएम अखिलेश गुरुवार से जनता के बीच जाएंगे और अपनी सरकार के विकास कार्यों को बताएंगे। अखिलेश यादव के इस हाईटेक रथ में भी परिवार के बीच जारी खींचतान की झलक नजर आ रही है। हाइटेक प्रचार वाहन से सपा के प्रदेश अध्यक्ष और चाचा शिवपाल यादव की फोटो गायब है। पिछले कुछ समय से सीएम अखिलेश और शिवपाल के आपसी संबंधों में तनाव है। सीएम अखिलेश शिवपाल को उनके तीन समर्थकों समेत अपने मंत्रिमंडल से भी निकाल दिया था। अखिलेश ने तब कहा था कि अमर सिंह के समर्थकों के लिए उनके मंत्रिमंडल में कोई जगह नहीं है। उसके बाद लखनऊ में पार्टी के विधायकों, सांसदों और अन्य पदाधिकारियों की एक बैठक में अखिलेश और शिवपाल के बीच सार्वजनिक रूप से कहासुनी और धक्कामुक्की हुई थी।

वीडियो: समाजवादी पार्टी की ‘विकास रथ यात्रा’ में एक साथ दिखे अखिलेश, शिवपाल और मुलायम; चुनाव प्रचार अभियान की हुई शुरुआत

समाजवादी सरकार के इस विकास रथ पर सीएम अखिलेश यादव का साइकिल चलाते हुए एक बड़ा फोटोग्राफ लगा हुआ है। बस के सामने की ओर साइकिल का फोटो है, जो कि समाजवादी पार्टी का चुनाव चिन्ह है। समाजवादी रथ के पीछे पार्टी सुप्रीमो और पिता मुलायम सिंह यादव की दो फोटो लगी हुई है। जिन तीन और लोगों की ब्लैक एंड वाइट तस्वीर रथ पर दिखाई देती है वह हैं राम मनोहर लोहिया जनेश्वर मिश्र और जयप्रकाश नारायण। इस रथ पर शिवपाल की तस्वीर न होने से अंदाजा लगाया जा रहा है कि चाचा और भतीजे के रिश्तों में आईं तल्खियां अभी दूर नहीं हुई हैं।

गौरतलब है कि सपा में मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल के विलय से अखिलेश यादव और चाचा शिवपाल सिंह यादव के बीच रिश्तों में तल्खी बढ़ी थी। अखिलेश यादव इस विलय के खिलाफ थे जबकि शिवपाल सिंह यादव ने इस विलय को कराया था। जिससे नाराज अखिलेश ने शिवपाल सिंह के मंत्रालय छिन लिए थे। जवाब में मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाकर उनकी जगह शिवपाल को यूपी ईकाई का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था। तब से लेकर अब तक चाचा-भतीजे के बीच जंग जारी है। मामले ने उस समय और गंभीर मोड़ ले लिया जब अखिलेश ने शिवपाल समेत कई मंत्रियों को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया था।

वीडियो में देखें सीएम अखिलेश की “विकास रथ यात्रा” से पहले आपस में कैसे लड़ पड़े सपा कार्यकर्ता-

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 10:46 am

सबरंग