ताज़ा खबर
 

अगर RSS ना होता तो पाकिस्तान के कब्जे में होते प. बंगाल, पंजाब और कश्मीर: योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष से पूछा कि "गाय और गंगा" का मुद्दा उठाने में क्या बुराई है
शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ विधानसभा में राज्यपाल राम नाईक के अधिभाषण पर चर्चा का जवाब दे रहे थे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष से पूछा कि “गाय और गंगा” का मुद्दा उठाने में क्या बुराई है। शुक्रवार को वह भाजपा के सहयोगी संगठन आरएसएस के समर्थन में भी नजर आए और दावा किया कि अगर देश में आरएसएस नहीं होता तो पश्चिम बंगाल, पंजाब और कश्मीर पाकिस्तान के हो जाते। शुक्रवार को योगी आदित्यनाथ विधानसभा में राज्यपाल राम नाईक के अधिभाषण पर चर्चा का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा, “अगर आरएसएस और डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी (भारतीय जन संघ के संस्थापक) ना होते तो पश्चिम बंगाल, पंजाब और कश्मीर पाकिस्तान के कब्जे में होते।”

उन्होंने आगे कहा कि ऐसे संगठन पर चर्चा करना फिजूल है जिसका राजनीति से कोई संबंध नहीं है। योगी ने कहा, “आरएसएस अकेला ऐसा संगठन है जो सरकार की कोई मदद नहीं लेता।” यह बताते हुए कि आरएसएस के अंतर्गत 64000 शैक्षणिक संस्थान चलाए जा रहे हैं, सीएम ने कहा, “कुछ लोग राष्ट्रगीत को सांप्रदायिकता के साथ जोड़ते हैं, लेकिन अगर आरएसएस नहीं होता तो लोग स्कूल में वंदे मातरम गाना भूल जाते।” दो दिन पहले ‘गाय, गंगा और गोरक्षा’ का मुद्दा उठाने को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए विपक्ष ने कहा था कि आरएसएस का देश की आजादी में कोई योगदान नहीं रहा है।

गंगा और यमुना में घटते जल स्तर पर चिंता जाहिर करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा, “उन्होंने कहा गाय और गंगा का मुद्दा उठाते हैं। क्या ये मुद्दा उठाना गलत है। गंगा हमारी मां है, गाय हमारी माता है।” मुख्यमंत्री ने अपराधियों और माफियाओं को लेकर कहा, ‘‘आदतें खराब हो गयी हैं। आसानी से छूटने वाली नहीं हैं। लेकिन मैं विश्वास दिलाता हूं कि प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए और भयमुक्त समाज के लिए सभी कदम उठाये जाएंगे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश की राजनीति का अपराधीकरण किया गया। अपराध का राजनीतिकरण किया गया। किसने किया प्रशासन का जातिकरण ? किसने किया ? ये अभिशाप है और सच्चाई भी है कि अपराधियों का व्यावसायीकरण और तबादलों का औद्योगीकरण किया गया।’’

आरएसएस और बीजेपी को लालू यादव की खुली धमकी, कहा- "सबको कुर्सी से उखाड़ फेंकूंगा"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    Ramesh Chhabra
    May 20, 2017 at 9:36 pm
    1947 mein, Bharat ke do tukre ke naam par Punjab aur Bengal ke tookre huey the, Joh stan aur East Bengal (ab Bangla Desh) ke naam se jaane jate hai. Aap jis Kashmir ki baat kar rahe hain, oos kashmir ka hissa 1948 se POK ke naam se jaana jata hain.
    (0)(0)
    Reply