December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

टीम इंडिया के क्रिकेटर का डॉगी हुआ लापता, ढूंढने वाले को मिला ‘बड़ा इनाम’, सौ-सौ के नोट देने का किया था वादा

टीम इंडिया के क्रिकेटर और स्पीनर पीयूष चावला और उनका परिवार ने उस वक्त राहत की सांस ली, जब उनका प्यारा पेप्पी वापस आ गया। दरअसल पीयूष का डॉगी पेपी शुक्रवार को लापता हो गया था।

पीयूष चावला का लापता डॉगी मिला। (Photo Source: Twitter)

टीम इंडिया के क्रिकेटर और स्पीनर पीयूष चावला और उनका परिवार ने उस वक्त राहत की सांस ली, जब उनका प्यारा पेप्पी वापस आ गया। दरअसल पीयूष का डॉगी पेपी शुक्रवार को लापता हो गया था, इसके बाद से उनका पूरा परिवार पेपी के लिए परेशान था। पीयूष के पापा पीके चावला शुक्रवार सुबह डॉगी को लेकर सैर पर निकले थे, इसके बाद वह वेव के सिनेमा के पास से गायब हो गया था। उन्होंने डॉगी को काफी तलाशा लेकिन उसका कुछ भी पता नहीं चल सका। इस बात की जानकारी जब उन्होंने परिवार को दी तो वो भी परेशान हो गए। घरवाले चहेते पेपी के खो जाने पर रो पड़े, यहां तक कि उन्होंने खाना पीना तक छोड़ दिया। वहीं, पीयूष ने पेपी को खोजने वालों को 25,000 रुपए इनाम देने की घोषणा की थी।

पेपी की तलाश में पम्मफलेट बंटवाए गए। इन प्रयासों का नतीजा यह रहा कि शुक्रवार शाम को पेप्पी मिल गया। दो लोग उसे लेकर पीयूष के घर पहुंचे। पीयूष ने उन लोगों से डॉगी को लेकर 25000 रुपए का इनाम भी दिया। पेपी के गायब होने के बाद पीयूष ने 25 हजार रुपए के इनाम की घोषणा की थी। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि इनाम की राशि 100 रुपए के नोटों में मिलेगी। हिंदुस्तान अखबार के मुताबिक पीयूष के पास लैब्रा ब्रीड का डॉगी है। जानकारी के मुताबिक पीयूष कहीं से भी मैच खेलकर वापस आएं तो सबसे पहले पेप्पी ही उन्हें दुलारने पहुंचता है।

गौरतलब है कि इससे पहले केंद्रीय मंत्री और आगरा से सांसद रामशंकर कठेरिया का भी कुत्ता भी लापता हो गया है। इसके लिए केंद्रीय मंत्री की पत्नी ने पुलिस में शिकायत की थी और कहा था अगर लापता कुत्ता नहीं मिला तो प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा था कि जब आजम खान की भैंस बरामद हो सकती है, तो हमारा कुत्ता क्यों नहीं? यूपी के कैबिनेट मंत्री आजम खान की भैंस चोरी होने का मामले पूरे देश में चर्चा का विषय रहा था। भैस की तालाश में पूरा प्रशासनिक अमला लगा रहा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 10:55 am

सबरंग