ताज़ा खबर
 

अखिलेश यादव के मंत्री को शिवपाल ने पार्टी से निकाला, MLC आशू मलिक को चांटा मारने का था आरोप

समाजवादी पार्टी ने अपने मंत्री पवन पांडे को पार्टी ने निकाल दिया। पवन को छह साल के लिए पार्टी से निष्काषित कर दिया गया।
समाजवादी पार्टी से विधायक आशू मलिक

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने बुधवार (26 अक्टूबर) को अपने मंत्री पवन पांडे को पार्टी से निकाल दिया। पवन को छह साल के लिए पार्टी से निष्काषित कर दिया गया। पवन पर आशू मलिक ने मारपीट का आरोप लगाया था। शिवपाल यादव ने कहा कि उन्होंने अखिलेश यादव को चिठ्ठी लिखकर पवन को मंत्री पद से हटाने के लिए भी कह दिया है। आशू ने कहा था कि पवन ने उनको चांटा मारा था। आशू मलिक को मुलायम सिंह यादव का करीबी माना जाता है। जिस दिन मुलायम सिंह ने स्टेज पर अखिलेश और शिवपाल को बुलाकर सुलह करवानी चाही थी जब आशू मलिक भी स्टेज पर मौजूद थे। मुलायम सिंह यादव ने ही आशू मलिक को स्टेज पर बुलाया था। मुलायम ने अखिलेश से कहा था कि उन्हें पार्टी के एक विधायक का खत मिला है जिसमें कहा गया है कि पार्टी में चल रही उथल-पुथल से मुस्लिम लोग पार्टी से दूर हो रहे हैं। इस बात को कहते हुए मुलायम ने आशू का नाम नहीं लिया था। लेकिन माना जा रहा था कि वह उन्हीं का जिक्र करना चाहते थे।

वीडियो: समाजवादी पार्टी विवाद: लखनऊ में दिन में चले नाटकीय घटनाक्रम के बाद, सब ठीक करने के लिए रात में की गई मीटिंग

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी में इस वक्त घमासान मचा हुआ है। कुछ दिन पहले अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव को मंत्रीपद से बर्खास्त कर दिया था। इसके जवाब में मुलायम सिंह यादव ने अपने भाई और अखिलेश को सपोर्ट कर रहे रामगोपाल यादव को छह साल के लिए पार्टी से निकाल दिया था। पार्टी में यह खींचतान बाहुबली मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल के विलय को लेकर शुरू हुआ था। अखिलेश विलय के खिलाफ थे लेकिन चुनाव को ध्यान में रखते हुए शिवपाल विलय करवाना चाहते थे। अंत में मुलायम के कहने पर कौमी एकता दल का समाजवादी पार्टी में विलय हो भी गया था।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.