December 06, 2016

ताज़ा खबर

 

अन्नकूट का बासी भोजन खाने से एक श्रद्घालु की मौत, 200 से अधिक बीमार

डॉ. विवेक मिश्रा ने तीर्थयात्रियों के खराब भोजन खाने के कारण बीमार पड़ने की पुष्टि करते हुए बताया कि इसका कारण इन लोगों द्वारा अन्नकूट का प्रसाद खाना बताया गया है जो दो दिन पूर्व गोवर्धन पूजा के अवसर पर तैयार किया गया था।

Author मथुरा | November 3, 2016 16:33 pm
चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में कार्तिक प्रवास करने पश्चिम बंगाल, उड़ीसा एवं त्रिपुरा आदि राज्यों से आए हजारों तीर्थयात्रियों में से करीब दो सौ से अधिक श्रद्घालु अन्नकूट का भोजन खाने से बीमार हो गए। इनमें से एक 96 वर्षीय कृष्णकांत की बेतहाशा उल्टी एवं दस्तों की शिकायत के चलते मृत्यु हो गई जबकि कई अन्य की हालत खराब हो गई। कृष्णकांत के साथ आए अन्य लोगों ने उनका पोस्टमॉर्टम कराए बिना ही अंतिम संस्कार भी कर दिया। उप जिलाधिकारी एमपी सिंह ने बताया अहोई अष्टमी से कार्तिक पूर्णिमा तक ब्रज में वास करने के इरादे से इन दिनों राधाकुण्ड व गोवर्धन में हजारों की संख्या में पश्चिम बंगाल से तीर्थयात्री यहां आए हुए हैं जो गोवर्धन एवं राधाकुण्ड की परिक्रमा करते हैं।

उन्होंने बताया कि परिक्रमा के बीच ही ये लोग जहां भी, जिस भण्डारे में भोजन वितरण हो रहा होता है, वहीं से प्रसाद रूप में भोजन ले लेकर खा लेते हैं। ऐसे में ही कहीं कोई दूषित पदार्थ उनके भोजन में मिलने की आशंका है जिससे बड़ी संख्या में ये बीमार पड़ गए। एसडीएम ने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के तीन चिकित्सकों की टीमों को उपचार में लगाया गया जिन्होंने दो सौ से अधिक मरीजों का उपचार किया। इनमें से दो दर्जन मरीजों को राधाकुण्ड के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां एक मरीज अरुण मंडल की हालत गंभीर होने पर उसे बीती रात 11 बजे सरकारी एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा गया है।

वीडियो में देखिए, यमुना एक्सप्रेस वे पर धुंध के चलते भिड़ीं 20 गाड़ियां; कई लोग घायल

मथुरा के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. विवेक मिश्रा ने तीर्थयात्रियों के खराब भोजन खाने के कारण बीमार पड़ने की पुष्टि करते हुए बताया कि इसका कारण इन लोगों द्वारा गौड़ीय मठ आश्रम में अन्नकूट का प्रसाद खाना बताया गया है जो दो दिन पूर्व गोवर्धन पूजा के अवसर पर तैयार किया गया था। उन्होंने बताया कि फिलहाल स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। स्वास्थ्य विभाग की एक विशेष टीम आज राधाकुण्ड भेजी गई है जो वहां भर्ती तथा उल्टी एवं दस्त जैसी समस्या से ग्रस्त सभी मरीजों का परीक्षण कर उपचार कर रही है। भर्ती किए गए तीर्थयात्रियों में प्रद्युम्न (उड़ीसा), राधे (पश्चिम बंगाल), नारायण दास, दीनबंधु, अरुण मंडल, शर्मिला दासी, अरविंद कुमार, लक्खी, सर्विला, सुरेश आदि शामिल हैं। इनके अलावा भी कई अन्य श्रद्घालु राधाकुण्ड, गोवर्धन एवं वृन्दावन के अस्पतालों में भर्ती किए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 3, 2016 4:33 pm

सबरंग