ताज़ा खबर
 

रैली के लिए लखनऊ पहुंचे नीतीश को अखिलेश के अफसरों ने तीन घंटे कराया इंतजार

नीतीश ने कहा, 'आज लखनऊ में बैठे लोग लोहिया की बात तो करते हैं, लेकिन उनके आदर्शों पर नहीं चल रहे।'
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बसपा के पूर्व नेता आरके चौधरी के साथ लखनऊ की रैली में। (Source: Express photo by Vishal Srivastav)

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने मंगलवार (26 जुलाई) को अखिलेश यादव के गढ़ उत्तर प्रदेश में पहुंचकर उनपर हमला बोला। लेकिन अपने जोरदार भाषण के लिए नीतीश को लगभग तीन घंटे इंतजार करना पड़ा। रैली की शुरुआत से पहले नीतीश को गेस्ट हाउस में रोके रखा गया। उन्हें सुरक्षा कारणों से जिला प्रशासन ने रैली में जाने की अनुमति नहीं दी थी। काफी जद्दोजहद के बाद उन्हें रैली में जाने दिया गया। दरअसल, नीतीश वहां बीएसपी से अलग हुए आरके चौधरी के संगठन बीएस-4 की रैली में शामिल होने के लिए गए थे।

रैली में नीतीश ने कड़ा रुख अपनाते हुए समाजवादी पार्टी, अखिलेश यादव और मायावती की बहुजन समाज पार्टी (बसपा) पर हमला किया। उन्होंने कहा, ‘आज लखनऊ में बैठे लोग लोहिया की बात तो करते हैं, लेकिन उनके आदर्शों पर नहीं चल रहे। वही लोग हमें छत्रपति शाहूजी महाराज की जयंती में आने से रोकने की कोशिश कर रहे हैं। हम अखिलेश जी से कहेंगे कि हमें भले यहां न आने दीजिए, लेकिन शराब बंद कर दीजिए। हमने लोहिया के रास्ते पर चलकर शराब बंदी करने के साथ ही महिलाओं, दलितों, पिछड़ों और शोषितों को उनका हक दिया। यही वजह है कि अब उन्हें हमारे यूपी में घूमने से भी डर लगता है।’

मायावती पर निशाना: बहुजन समाज पार्टी को निशाना बनाते हुए नीतीश ने कहा, ‘बहुजन समाज में पैदा होने से कुछ नहीं होता। यदि आप उनकी पीड़ा नहीं समझते तो आगे नहीं जा सकते।’

Read Also:  लालू बोले- यूपी से बाहर रहेंगे हम, नीतीश ने कहा- हम तो लड़ेंगे

सभा में नीतीश ने आरके चौधरी का साथ देने का वादा किया और कहा कि हम लोग मिलकर आगे बढ़ेंगे। वहीं बिहार में शराबबंदी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘लोग कहते हैं कि शराब बंदी से राजस्व का नुकसान होगा। हम कहते हैं कि लोग शराब छोड़ देंगे तो यूपी में 25 हजार करोड़ बचेगा। लोगों की यह बचत अर्थव्यवस्था को मजबूत ही करेगी। ‘

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. R
    rahul
    Jul 27, 2016 at 4:10 am
    मीडिया और सोशल मीडिया के एकतरफा विरोध के बावजूद नीतिश जी ने दिखाया कि बिहार तक में सुशासन लाया जा सकता है शराबबंदी सफलता पूर्वक लागू कर इतिहास रच दिया हैपर इतने संजीदा तथा अविवादित लोगों की जरूरत शायद समाज को नहीं है
    (0)(0)
    Reply