December 10, 2016

ताज़ा खबर

 

परिवार में खींचतान पर बोले मुलायम, विधायक दल करेगा सपा के मुख्यमंत्री का चुनाव

मुलायम ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में उनके नाम पर वोट मांगे गये थे, लेकिन उन्होंने अखिलेश को मुख्यमंत्री बना दिया।

Author लखनऊ | October 14, 2016 21:47 pm
समाजवादी पार्टी के मुखिया मुखिया मुलायम सिंह यादव। (पीटीआई फाइल फोटो)

‘समाजवादी परिवार’ में जारी खींचतान के बीच समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने एक महत्वपूर्ण बयान में शुक्रवार (14 अक्टूबर) को कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के बाद स्थितियां बनने पर सपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार का फैसला चुने हुए विधायक करेंगे। अभी तक मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को ही सपा के अगले मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाने की बात कहते रहे सपा मुखिया का यह बयान समाजवादी परिवार में पहले से ही जारी अन्तर्विरोध को और भड़का सकता है। मुलायम ने यहां प्रेस कॉन्फ्रेंस में अखिलेश को ही सपा के मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनाये रखने की सम्भावना सम्बन्धी एक सवाल पर कहा ‘मुख्यमंत्री को विधायक दल के लोग चुनेंगे, संसदीय बोर्ड चुनेगा। यह हमारा काम है। यह आपका (मीडिया) काम नहीं है।’

सपा मुखिया इस दौरान अखिलेश द्वारा जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट को अपना ‘वार रूम’ बनाए जाने तथा बुधवार को लोहिया जयन्ती के मौके पर अलगाव जाहिर किए जाने जैसे तमाम तीखे सवालों से बचते रहे। हालांकि उन्होंने कहा कि सपा परिवार में कोई विवाद नहीं है। सुबह भी शिवपाल यादव उनसे मिले हैं। मुलायम ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में उनके नाम पर वोट मांगे गये थे, लेकिन उन्होंने अखिलेश को मुख्यमंत्री बना दिया। किसे कहां बैठाना है यह वह खुद तय करेंगे। मालूम हो कि माफिया से राजनेता बने मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी की अगुवाई वाले कौमी एकता दल (कौएद) के सपा में विलय को मुख्यमंत्री के कड़े विरोध के चलते रद्द किए जाने के बाद अखिलेश और उनके चाचा शिवपाल यादव के बीच पैदा हुई तल्खी अखिलेश को सपा के प्रान्तीय अध्यक्ष पद से हटाये जाने पर और भड़क गयी थी।

अखिलेश को प्रान्तीय अध्यक्ष पद से हटाये जाने का मुखर विरोध करने वाले युवा नेताओं की बर्खास्तगी, सपा प्रदेश कार्यकारिणी से अखिलेश के करीबियों की छुट्टी और उनके नजदीकी लोगों के टिकट काटे जाने से तल्खियां और बढ़ीं। बुधवार को लोहिया जयन्ती पर मुख्यमंत्री अखिलेश सपा मुखिया का इंतजार किये बिना चले गये। इसके अलावा अनेक मौकों पर पार्टी बंटी हुई नजर आयी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 14, 2016 9:46 pm

सबरंग