December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

मुलायम बोले- अमर सिंह के सारे पाप माफ, शिवपाल का भी किया बचाव, अलग-थलग पड़े अखिलेश यादव

शिवपाल ने साफ कहा कि 'पार्टी में अनुशासनहीनता बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी।'

यादव परिवार।

समाजवादी पार्टी में मचे घमासान में मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव अलग-थलग पड़ते नजर आ रहे हैं। सोमवार को पार्टी मुख्‍यालय में बैठक के दौरान सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने खुलकर अमर सिंह और भाई शिवपाल सिंह यादव का समर्थन किया। उन्‍होंने साफ कहा कि ‘अमर सिंह मेरे भाई हैं, उन्‍होंने पार्टी को मजबूत बनाने में बहुत मेहनत की है।’ मुलायम ने कहा कि उन्‍होंने अमर सिंह के सारे ‘पाप’ माफ कर दिए हैं। उन्‍होंने कहा, ”मैं अमर सिंह या शिवपाल को नहीं छोड़ सकता। अमर सिंह के सारे पाप माफ।” मुख्‍यमंत्री को लताड़ लगाते हुए उन्‍होंने कहा, ”मैं अखिलेश को समझाता हूं लेकिन वह और चीजों पर ध्‍यान देता है। उसे समझ नहीं आता कि लोगों को गरियाने से कुछ नहीं होगा। जो लोग आज उछल रहे हैं, एक लाठी नहीं झेल पाएंगे। हमने कई लाठियां खाई हैं।” मुलायम ने पार्टी में पैदा हुई इस स्थिति के लिए  चापलूसों को जिम्‍मेदार ठहराया। उन्‍होंने धमकी भरे लहजे में कहा, ”पार्टी में कई तरह के शराबी, गुंडे आ गए हैं। इनको जरा सी ताकत क्‍या मिल जाती है, दिमाग खराब हो जाता है।”

आखिर यादव परिवार में कौन पैदा कर रहा है कलह, देखें वीडियो:

इससे पहले बैठक में बोलते हुए सीएम अखिलेश यादव भावुक हो उठे। उन्‍होंने इस्‍तीफे की पेशकश करते हुए कहा कि अगर नेताजी (मुलायम) ने मुझसे इस्‍तीफे के लिए कहा होता तो मैंने कब का दे दिया होता। सीएम ने कहा रामगोपाल का बचाव करते हुए कहा कि ‘जब अमर सिंह ने कहा कि नवंबर तक अखिलेश यूपी में सीएम नहीं रहेंगे, तो मुझे तकलीफ हुई थी। रामगोपाल जी ने ऐसा नहीं कहा।’

READA ALSO: कार्यकर्ताओं से मुखा‍तिब हुए तो रो पड़े चाचा-भतीजा, नेताजी से बयां किया अपना-अपना दर्द

शिवपाल ने साफ कहा कि ‘पार्टी में अनुशासनहीनता बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। यह पार्टी इतनी ऊंचाइयों तक सिर्फ नेताजी की वजह से पहुंची है।” बोलते-बोलते शिवपाल भी भावुक हो गए। उन्‍होंने कहा, ”मुझसे विभाग क्‍यों छीने गए, नेताजी के साथ क्‍या मेरा योगदान नहीं? मैं मुख्‍यमंत्री से जानना चाहता हूं कि मैंने उनका कौन सा आदेश नहीं माना था। मैंने उनका हर आदेश माना है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 24, 2016 1:08 pm

सबरंग