December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

सियासी माहौल में लखनऊ में हुआ मेट्रो का ट्रायल

उत्तर प्रदेश में चुनावी गहमागहमी के बीच गुरुवार को प्रदेश सरकार की बहुप्रचारित लखनऊ मेट्रो का ‘ट्रायल रन’ हुआ।

Author लखनऊ | December 2, 2016 04:01 am
मेट्रो ।

उत्तर प्रदेश में चुनावी गहमागहमी के बीच गुरुवार को प्रदेश सरकार की बहुप्रचारित लखनऊ मेट्रो का ‘ट्रायल रन’ हुआ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके पिता सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने हरी झंडी दिखाई। मुख्य कार्यक्रम का आयोजन ट्रांसपोर्ट नगर डिपो पर किया गया था। ट्रायल रन साढेÞ आठ किलोमीटर की दूरी तक ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग के बीच हुआ। मौके को भुनाते हुए मुलायम सिंह ने सपा सरकार की पीठ ठोकी और अगले चुनाव के लिए जनता से वोट मांगे।  अखिलेश ने इस मौके पर कहा कि इस परियोजना को समय से पूरा करना चुनौती थी। समय से पहले पूरी हुई इस परियोजना ने देश के समक्ष मिसाल कायम की है। उन्होंने कहा, मेट्रो हमारे चुनाव घोषणापत्र
में नहीं थी, लेकिन हमने परियोजना शुरू की। गाजियाबाद और नोएडा में भी मेट्रो का काम चल रहा है।

कानपुर में मेट्रो जाएगी और मौका मिला तो वाराणसी भी मेट्रो ले जाएंगे।अखिलेश ने कहा कि हम दोषारोपण के खेल को नहीं मानते। हम विकास चाहते हैं और इसके लिए उठाए गए हर कदम का समर्थन करते हैं। कार्यक्रम में मौजूद मुलायम ने मेट्रो की शुरुआत पर खुशी का इजहार करते हुए कहा कि परियोजना समय से पूरी हो गई, उन्हें इसकी खुशी है। मुलायम ने मेट्रो परियोजना से जुडेÞ कर्मचारियों और अधिकारियों की प्रशंसा करते हुए कहा, जब मुझसे परियोजना का शिलान्यास करने के लिए कहा गया तो मैं जानना चाहता था कि समय कितना लगेगा। जब बताया गया कि चार साल लग जाएंगे तो मैंने इनकार कर दिया था। फिर कहा गया कि तीन साल में काम पूरा हो जाएगा, लेकिन बाद में मुझे बताया गया कि दो साल में काम हो जाएगा, जिस पर मैं सहमत हो गया।

एक दिसंबर को ऐतिहासिक दिन बताते हुए मुलायम ने कहा कि अगर वाराणसी में भी मेट्रो चले तो उन्हें खुशी होगी। उन्होंने जनता से अपील की कि वह सपा को वोट दे ताकि वह राज्य में फिर अगली सरकार बना सके। मुलायम ने कहा, मौजूदा सपा सरकार ने ऐतिहासिक कार्य किए हैं और देश में इसकी मिसाल कायम हुई है। उत्तर प्रदेश में जो कार्य हुए , हर कहीं उनकी तारीफ हो रही है। पार्टी कार्यकर्ताओं से सपा सरकार के किए गए कार्यों का प्रचार जनता के बीच करने की अपील करते हुए उन्होंने कहा, हमने अच्छे कार्य किए , लेकिन हम चर्चा नहीं करते। कार्यक्रम में प्रदेश सपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव भी मौजूद थे।मेट्रो का उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर 23 किलोमीटर लंबा है और इस पर 21 स्टेशन होंगे। आठ स्टेशन जमीन से ऊपर होंगे। मेट्रो की अनुमानित लागत 6800 करोड़ रुपए है। ट्रांसपोर्ट नगर से चारबाग के बीच के खंड को आम जनता के लिए अगले वर्ष 26 मार्च को खोला जाएगा। तीन महीने तक मेट्रो का ‘ट्रायल’ चलेगा। कोंकण रेलवे और दिल्ली मेट्रो जैसी देश की कई बड़ी परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा करने वाले मेट्रोमैन ई श्रीधरन लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन के प्रमुख सलाहकार हैं।

 

अखिलेश यादव ने लखनऊ मेट्रो को हरी झंडी दिखाई; महिला ड्राइवर ने कराया सफर

नोटबंदी: फैसले के बाद कैसे चल रहा है मजदूरों का गुजारा, देखिए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on December 2, 2016 4:01 am

सबरंग