ताज़ा खबर
 

बीजेपी नेताओं पर कार्रवाई की तो हुआ ट्रांसफर, महिला पुलिसकर्मी ने FB पर लिखा- ‘मैं इसे अच्‍छे काम के इनाम की तरह कबूल करती हूं’

अभी तक श्रेष्‍ठा की तैनाती बुलंदशहर जिले के स्‍याना सर्किल में थी।
यूपी पुलिस की अधिकारी श्रेष्‍ठा ठाकुर। (Source: Facebook)

उत्‍तर प्रदेश की महिला पुलिस अधिकारी श्रेष्‍ठा ठाकुर ने अपने ट्रांसफर को ‘अच्‍छे कामों का इनाम’ बताया है। श्रेष्‍ठा ने स्‍थानीय बीजेपी नेता के खिलाफ सख्‍ती दिखाई थी, जिसकी सोशल मीडिया पर खासी तारीफ हुई थी। शनिवार को उनका तबादला बहराइच कर दिया। ठाकुर ने पांच बीजेपी नेताओं को सरकारी काम में बाधा डालने के चलते जेल भेज दिया था। अपने ट्रांसफर की सूचना पर उन्‍होंने कहा कि वह खुश हैं और इसे अपने अच्‍छे काम के इनाम की तरह कबूल करती हैं। उन्‍होंने फेसबुक पर लिखा, ”जहां भी जाएगा, रौशनी लुटाएगा। किसी चराग का अपना मकां नहीं होता। बहराइच ट्रांसफर हो गया, नेपाल बॉर्डर है। परेशान मत होइए दोस्‍तों, मैं खुश हूं। मैं इसे अपने अच्‍छे काम का इनाम मानती हूं। आप सभी बहराइच में आमंत्रित हैं।” अभी तक श्रेष्‍ठा की तैनाती बुलंदशहर जिले के स्‍याना सर्किल में थी। उन्‍हें कुछ अन्‍य डिप्‍टी सुप्रिटेंडेंट्स के साथ ट्रांसफर किया गया है।

हिन्दुस्तान टाइम्स के अनुसार, ठाकुर के तबादले के बाद स्थानीय नेता इसे अपना सम्मान मान रहे हैं और इसके साथ ही आला अधिकारियों से महिला अफसर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। बुलंदशहर के बीजेपी अध्यक्ष मुकेश भारद्वाज ने कहा कि ठाकुर पर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और अन्य नेताओं पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने का मामला दर्ज कराया गया है।

एक हफ्ते पहले ट्रैफिक रूल तोड़ने पर पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ता का चालान काट दिया था। आरोप है कि इसके बाद अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं ने महिला CO श्रेष्ठा ठाकुर से बदसलूकी की। इतना ही नहीं, जिन कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पकड़ा था, उन्हें भी कोर्ट परिसर से छुड़ाने की कोशिश की गई।

कार्यकर्ताओं और महिला CO के बीच भी जमकर बहस हुई। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि पुलिस बीजेपी से जुड़े ही लोगों के खिलाफ कार्रवाई करती है और ट्रैफिक नियमों के नाम पर घूसखोरी की जाती है। हालांकि सीओ ने इन आरोपों की सिरे से नकार दिया।

महिला CO ने मीडिया को बताया, “मामला चालान का था। प्रमोद के पास पूरे दस्तावेज नहीं थे। पहले उन्होंने मेरे साथ बदतमीजी की। इसके बाद दूसरे पुलिस अधिकारियों के साथ भी बदसलूकी की गई।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Anurag Mishra
    Jul 3, 2017 at 5:02 pm
    बहुत सूंदर महोदया. बी पॉजिटिव.
    (0)(0)
    Reply
    1. R
      raja yadav
      Jul 3, 2017 at 2:41 pm
      अगर सभी अधिकारी इसी तरह स के साथ काम करेंगे तो जनता भी इनका साथ देगी और गुंडा बदमाश और नेता भी ी चलने लगेंगे तभी जनता खुश रहेगी ऐसे अधिकारी को में दिल से पसंद करताहू जग जग जियो
      (0)(0)
      Reply
      1. S
        Subhrodip Sengupta
        Jul 3, 2017 at 10:11 am
        Hero??? Puppy Shame Mens Right ACTOVISTS well read men and women are sokaler by her cheap trolls, how whose favourite dhe id to be in the force after thr most unsophisticated and non honorable feeds. Those mens were not assaulting / touching with fingers or even blockading her. They were resisting slap ping by police. On refusal to pay bribe. Also bribe asked was greater than challan. She not only threatens on video, but actually claims she was groped, lock one of these up, for complain ing to superior and making video viral unless a magistrate intervenes. Now the thing is this is dine by pros utes on similar grounds of refusing money. The statement she has issues times and again outside PS on media and on facebook (jahan aayegi diya hati rahegi....) Demonstrates her anti government and also anti people at ude. Open challenge. I hope she is just anti BJP, and will selectively assault them. These unbe ing statement should bring discipline. action but some people like her a lot.
        (0)(0)
        Reply
        1. dr. S.S.Shrivastava
          Jul 3, 2017 at 9:50 am
          सबाल तब उठते हैं जब ऐसे दबंग लेडी सिंघम ,महा श्रेष्ट ठाकुर वर्दी धारियों ने, नोयडा के बलात्कारों की आर्तनाद नहीं सुनी, दादरी के पूर्ब दोनो भाइयों के कटे सिर को नहीं देखा और असंख्य "आजमी" दबंगई की गवाह महिलाओं, छात्राओं की लुटी हुई जिन्दगी पर "अखिलेशी ्का" पहन कर बैठना अपना कर्तव्य समझा। योगी काल में सिर्फ बाताबाती , कुछ सामान्य शरारतें ,ऐसे दुष्कर्म मान्य हो जाते हैं कि सिंघम के जोश और वर्दी तुरत हथकड़ियाॅ पहना देती हैं। यह भारत का खून है। नमक हलाली का genes आसानी से नहीं जायगा।
          (0)(0)
          Reply
          1. A
            A k pandey
            Jul 3, 2017 at 4:20 pm
            भाई साहब पहले तो कानून था ही नहीं अब कानून को फॉलो कर रहे हैं तो थोड़े बहुत रो पार्टियों को भी डिसिप्लिन में आना पड़ेगा कल कानून को अपना काम करने दें उनको पूर्ण रूप से योग दें अब यह आदतें पहले से बिगड़ी हुई है 1 दिन में ी नहीं होगी इसमें टाइम लगेगा योगी जी अच्छा कर रहे हैं एडमिनिस्ट्रेशन उन्हीं के सानिध्य में होने के कंट्रोल में एक्शन ले रहे हैं जो उचित होगा वह किया जाएगा
            (0)(0)
            Reply
          2. R
            Raza s haider
            Jul 3, 2017 at 9:12 am
            Andhe ke hath bater lagi hai n wo use kha pa raha hai aur n hi rakh pa raha hai sath to ye hai jab ye log mahila police officer ki izzat nahi kar sakte to apne ghar ki mahilao ke sath kyaa skool rakhte honge party ke gande log imandar aur bhadur mahila officer ko mera solute jaha bhi rahe khuda unko kamyab kare aur hifazat se rakhe good luck and be careful.
            (0)(0)
            Reply
            1. U
              Unkn0wn
              Jul 3, 2017 at 8:36 am
              चिंता मत करो मैडम,एक न एक दिन जनता उनकी भी तबादला करेगी।😀फिलहाल हँसके पी लो ये ज़हर।
              (0)(0)
              Reply
              1. नवीन
                Jul 3, 2017 at 7:54 am
                BJP भी कोंग्रेस की राह पर
                (0)(0)
                Reply
                1. A
                  aditya
                  Jul 3, 2017 at 6:55 am
                  Bakwas hai ye she miss uses her पावर Isko suspend Kar Dena chahiye kyo की Agar aapko chalan Karna hai Karo but aap kisi pe haath nahi utha sakte pahale usne action dikhaya baad me uska reaction mila Baaki sab video dhayan se dekhe
                  (0)(0)
                  Reply
                  1. S
                    Subhrodip Sengupta
                    Jul 3, 2017 at 9:59 am
                    I agree. Ipc354 without even touching us used by s for money. She was hiding bribery, apparently. Now we see the greater conspiracy... Her trying to catch limelight and bring an anti bjp agent in UP CENTER. MEANS ...VERY CHEAP UNFIT TO IPS.
                    (0)(0)
                    Reply
                  2. Ajay Sharma
                    Jul 3, 2017 at 2:47 am
                    हमें आप पे गर्व है, घबराने की जरुरत नहीं, आजकल "बीजेपी का पप्पू" मुख्यामंत्री है थोड़े दिनों की बात है ये भी जु ेबाज की तरह उड़ता फेरेगा. जय हो
                    (0)(0)
                    Reply
                    1. S
                      suresh k
                      Jul 2, 2017 at 10:18 pm
                      शाबाश श्रेष्ठा , हर सरकारी अधिकारी यदि अपने ट्रांसफर को इसी रूप में देखे तो सारा देश गुंडों मवालियो से मुक्त हो जाय . लेकिन हमारे देश के अधिकांश ब्यूरोक्रेट्स ट्रांसफर पोस्टिंग के चक्कर में नेताओ की चप्पल चाटते है . भारत आप पर गर्व करेगा . हमेशा ऐसे ही रहना .
                      (0)(0)
                      Reply
                      1. D
                        Dileep
                        Jul 11, 2017 at 10:18 am
                        Bjp wale to shreshtha ji ki glti nikal rhe h...well done shreshtha ji ....jai hind...
                        (0)(0)
                        Reply
                      2. Load More Comments
                      सबरंग