May 25, 2017

ताज़ा खबर

 

अखिलेश-शिवपाल विवाद में डिंपल यादव भी कूदीं, अखिलेश को फिर से सीएम बनवाने के लिए कर रहीं प्रचार?

अखिलेश यादव की पत्नी और सांसद डिंपल यादव ने एक ऑनलाइन पोल कराया है, जिसमें लोगों से पूछा गया कि क्या वह फिर से अखिलेश यादव को ही मुख्यमंत्री देखना पसंद करेंगे।

अखिलेश यादव ने हाल ही में नया घर खरीदा है। गृह प्रवेश के दौरान ली गई एक तस्वीर को उन्होंने फेसबुक पर भी साझा किया था। (Photo: Facebook/Akhilesh Yadav)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल यादव के बीच चल रही खींचतान के बीच अब डिंपल यादव भी शामिल हो गई हैं। बताया जाता है कि उन्‍होंने एक फेसबुक पेज बना कर अखिलेश के लिए प्रचार शुरू कर दिया है। कन्‍नौज से सांसद डिंपल यादव ने यह पेज 21 अक्‍तूबर को बनवाया है। इसमें लोगों से सीधा सवाल भी किया गया है कि क्या वह फिर से अखिलेश यादव को ही मुख्यमंत्री देखना पसंद करेंगे? इस पेज का नाम “कहो दिल से, अखिलेश फिर से” रखा गया है। पेज पर पहले दिन से ही अखिलेश का प्रचार शुरू हो गया था। इस पर हर दिन लगातार अखिलेश यादव और डिंपल यादव से जुड़े पोस्ट और तस्वीरें डाली जा रही हैं। पेज को पांच दिन में 370 लोगों ने लाइक किया है।

समाजवाद पर भारी परिवारवाद! वीडियो में देखिए सपा में चल रहे पूरा विवाद का विश्लेषण

25 अक्टूबर को इस पेज पर एक पोस्ट डाली गई, जिसमें अखिलेश यादव की तस्वीर के साथ एक सवाल लिखा था। इसमें लिखा था, “क्या आप 2017 में फिर से मुझे मुख्यमंत्री चुनेंगे।” पोस्ट के साथ यह भी लिखा गया, “सबसे बड़ा सर्वे है, हज़ारों की संख्या में शेयर और कमेंट कर भैय्या की ताकत का अहसास दुनिया को कराएं!” इस पोस्‍ट पर 14 घंटे में 78 लाइक, दो शेयर और 28 कमेंट आए। लगभग सभी कमेंट्स अखिलेश के समर्थन में थे।

Read Also: सचिवालय में क्‍लर्क थीं मुलायम सिंह की दूसरी पत्‍नी साधना, 2012 में पति से लिया था अपने बेटे को अखिलेश के बराबर दर्जा देने का वादा

नीचे देखें पोस्ट:

Read Also: अखिलेश यादव के मंत्री को शिवपाल ने पार्टी से निकाला, MLC आशू मलिक को चांटा मारने का था आरोप

बता दें कि अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच लंबे समय से चली आ रही तकरार खुलकर सामने आ गई है। बीते रविवार (23 अक्टूबर) अखिलेश ने अपने चाचा शिवपाल समेत चार मंत्रियों को अमर सिंह का करीबी बताते हुए पार्टी से निकाल दिया था। जिसके बाद मुलायम सिंह ने भी अखिलेश के करीबी माने जाने वाले रामगोपाल यादव को पार्टी से छह साल के लिए बाहर कर दिया। इसके बाद सोमवार 24 अक्टूबर को जब सोमवार को पार्टी लखनऊ स्थित पार्टी मुख्यालय पर बैठक बुलाई गई तब चाचा-भतीजा की मंच पर ही नोकझोंक हो गई। हालांकि मंगलवार को मुलायम सिंह ने प्रेस कॉन्फेंस में कहा कि पार्टी और परिवार, दोनों में सब ठीक है। उन्होंने यह भी साफ किया कि उनका मुख्यमंत्री बनने का कोई विचार नहीं है, साथ ही अखिलेश के सीएम बनने से कोई आपत्ति नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 26, 2016 12:16 pm

  1. No Comments.

सबरंग