May 23, 2017

ताज़ा खबर

 

दादरी: तीन दिन बाद हुआ अखलाक की हत्‍या के आरोपी का अंतिम संस्कार, मुआवजे में मिलेंगे 25 लाख रु

अखलाक की हत्या के आरोपी रवि सिसोदिया के शव का तीन दिन अंतिम संस्कार कर दिया गया।

Author October 8, 2016 07:35 am
महेश शर्मा अखलाक की हत्या के आरोपी रवि सिसोदिया की मां से भी मिले। (Source: Express Photo by Gajendra Yadav)

अखलाक की हत्या के आरोपी रवि सिसोदिया के शव का तीन दिन बाद शुक्रवार (7 अक्टूबर) को अंतिम संस्कार कर दिया गया। इंडियन एक्सप्रेस को मिली जानकारी के मुताबिक, यह अंतिम संस्कार परिवार और गांववालों ने स्थानीय प्रशासन के साथ हुए कुछ ‘समझौते’ के बाद किया। प्रशासन और परिवार के बीच जो समझौता हुआ उसमें यह कहा गया कि 11 लोगों की एक कमेटी बनाई जाएगी। उसमें गांव के कुछ लोग और इलाके के विधायक को शामिल किया जाएगा। इस कमेटी का काम अखलाक पर लगे गौहत्या के केस में लगी पुलिस की जांच को देखने का होगा। गौतम बुद्ध नगर के जिला मजिस्ट्रेट एनपी सिंह ने जानकारी दी कि रवि के परिवार को 25 लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा। इसमें से 10 लाख राज्य सरकार देगी, 10 लाख एक संस्था देगी वहीं 5 लाख रुपए उस इलाके के सांसद महेश शर्मा और सरधना के विधायक संगीत सोम देंगे। राज्य सरकार ने केस की सीबीआई जांच की अर्जी को इजाजत देकर आगे बढ़ा दिया। जिला मजिस्ट्रेट ने रवि की एक साल की बेटी की देखरेख की पूरी जिम्मेदारी ली। मीटिंग में रवि की पत्नी को भी शिक्षा और नौकरी देने की बात कही गई।

वीडियो: Speed News

यह फैसला शुक्रवार की शाम को एक मीटिंग में हुआ। उस मीटिंग में सांसद महेश शर्मा, सरधना के विधायक संगीत सोम, डिबई के विधायक भगवान शर्मा, रवि के परिवार वाले और जिला प्रशासन के कुछ सीनियर लोग शामिल थे। मीटिंग के बाद संगीत सोम ने लोगों से रवि का अंतिम संस्कार करने देने की गुजारिश की। हालांकि, कुछ लोग संगीत की बात नहीं मान रहे थे। लेकिन फिर समझाने पर वे भी मान गए। सासंद महेश शर्मा ने राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए उनके रवैये को निशानाजनक बताया। उन्होंने सवाल किया कि अगर रवि की तबीयत ठीक नहीं थी तो उसे मेडिकल सुविधा क्यों नहीं दी गईं।

Read Also: दादरी कांड: अखलाक की हत्‍या के आरोपी के शव पर रखा तिरंगा, शहीद बता मांगा एक करोड़ का मुआवजा

इससे पहले ग्रामीणों ने रवि को शहीद करार देते हुए उसके शव पर तिरंगा रख दिया था और सरकार से एक करोड़ रुपये के मुआवजा देने की मांग लेकर धरना पर बैठ गए थे। इसके साथ ही ग्रामीण अखलाक हत्याकांड में नामजद सभी 17 लोगों को तुरंत रिहा करने की मांग कर रहे थे। 22 वर्षीय रवि सिसोदिया की मौत मंगलवार को किडनी और श्वसन तंत्र फेल हो जाने से हो गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 8, 2016 7:35 am

  1. S
    sunil
    Oct 8, 2016 at 4:04 am
    ये है अच्छे दिन. एक मर्डरर को तिरंगे में लिपटना, लाखो का इनाम देना. जय हो
    Reply
    1. M
      Manish Singh
      Oct 8, 2016 at 5:29 am
      मर्डरर नहीं था वो... ..
      Reply

    सबरंग