ताज़ा खबर
 

यूपी विधानसभा में विस्फोटक मिलने पर बसपा विधायक मुख्तार अंसारी ने कहा- मुझे मारने की थी प्लानिंग

आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी और माफिया से राजनेता बने बृजेश सिंह के बीच की दुश्मनी जगजाहिर है।
बसपा विधायक मुख्तार अंसारी।

12 जुलाई को यूपी विधानसभा में सदन के अंदर सीट के पास से विस्फोटक पदार्थ मिला था। इस मामले का खुलासा शुक्रवार को हुआ। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसे आतंकी साजिश बताते हुए एनआईए से मामले की जांच कराए जाने की मांग की है। अब इस मुद्दे पर मऊ से बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी ने कुछ ऐसा कह दिया है कि राजनीति गरम हो गई है। बसपा विधायक मुख्तार अंसारी ने कहा है कि सदन में विस्फोटक उनकी हत्या करने के लिए लाया गया था। आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी इस समय जेल में बंद हैं। शुक्रवार को वो सदन की कार्यवाही में हिस्सा लेने पहुंचे थे। सदन में विस्फोटक मिलने की बात पर जब एक पत्रकार ने उनसे पूछा तो उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच के आदेश सीएम ने दे दिये हैं, मुझे शक है कि ये विस्फोटक मुझे मारने के लिए सदन में लाया गया था। आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी और माफिया से राजनेता बने बृजेश सिंह के बीच की दुश्मनी जगजाहिर है। एक वक्त दोनों एक दूसरे की जान लेने पर उतारू थे। आज मुख्तार और बृजेश सिंह दोनों की गिनती प्रदेश के माननीयों में होती है। मुख्तार अंसारी विधानसभा के सदस्य हैं तो वहीं बृजेश सिंह विधान परिषद के।

 

मुख्तार अंसारी ने विधानसभा के सदन में विस्फोटक मिलने पर कहा-  ये एक दुखदायी घटना है। इसके पीछे आतंकवादियों का हाथ हो सकता है। मुख्यमंत्री ने इस घटना की एनआईए से जांच के आदेश दिये हैं। जांच के बाद सब कुछ साफ हो गाएगा कि सदन में ये विस्फोटक कैसे पहुंचे थे। मुझे शक है कि मुझे मारने के लिए ये साजिश रची गई थी। मेरे लिये ही इस विस्फोटक को सदन के अंदर लाया गया था।

 

आपको बता दें कि 11 जुलाई को यूपी विधानसभा का बजट सत्र प्रारंभ हुआ था। 12 जुलाई को प्रात: काल जब सफाई कर्मचारी आए तो संदिग्ध सामग्री प्राप्त हुई थी। आशंका व्यक्त की गई थी कि यह कोई रसायन हो सकता है। जांच में पता लगा कि यह एक खतरनाक विस्फोटक PETN था, जिसकी मात्रा 100-150 ग्राम थी। इसकी 500 ग्राम मात्रा ही पूरी विधानसभा को उड़ाने के लिए काफी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग