May 26, 2017

ताज़ा खबर

 

अखिलेश यादव को झटका, सपा में फिर हुआ बाहुबली मुख्‍तार अंसारी की पार्टी का विलय

माफिया मुख्‍तार अंसारी की पार्टी के साथ पहले भी सपा का विलय हुआ था।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव। (फाइल फोटो)

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव को झटका देते हुए बुधवार को समाजवादी पार्टी ने कौमी एकता दल (कौएद) से फिर विलय कर लिया। इससे पहले, बीती 21 जून को कौमी एकता दल का सपा में विलय हुआ था। शिवपाल ने कौएद अध्यक्ष अफजाल अंसारी के साथ इसकी घोषणा की थी। यह विलय सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव की अनुमति से शिवपाल की पहल पर हुआ था। हालांकि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कड़े विरोध के बाद 25 जून को पार्टी संसदीय बोर्ड ने इस विलय को रद्द कर दिया था। कहा जा रहा था कि मुलायम सिंह और उनके भाई व पार्टी के कद्दावर नेता शिवपाल सिंह इस पक्ष में थे कि अंसारी की पार्टी को सपा में शामिल कर लिया जाए जबकि अखिलेश इस फैसले से बेहद नाराज थे। इससे पहले जब विलय हुआ था तब मुख्यमंत्री ने कहा था, ”यह फैसला मैंने नहीं लिया था। मुझे प्रदेश अध्यक्ष की हैसियत से मुख्यमंत्री की हैसियत से जिस प्लेटफार्म पर कहना होगा, मैं कहूंगा। मैंने कह दिया ना कि मुख्तार नहीं होंगे हमारी पार्टी में।” इसके बाद ही समाजवादी पार्टी यह विलय को रद्द करने पर मजबूर हुई थी।

कश्‍मीर में फिर हुआ आतंकी हमला, देखें वीडियो: 

दूसरी तरफ, सीएम अखिलेश ने बुधवार को मीडिया से बात करते हुए केन्‍द्र में सत्‍ताधारी भाजपा पर हमला किया। उन्‍होंने कहा, ”बीजेपी ने कहा था कि हम अच्‍छे दिन लाएंगे, ये कहकर बताओ कितने लोगों का भला किया ? उन्‍होंने क्‍या-क्‍या जमीन पर उतारा है, उनपे तुलना होगी। अखिलेश ने एलओसी पर भारतीय सेना की सर्जिकल स्‍ट्राइक की भी तारीफ की, मगर बीजेपी पर चुटकी लेना नहीं भूले।

READ ALSO: नाबालिग से बलात्कार के आरोपी विधायक ने की लालू से मुलाकात, सुप्रीम कोर्ट में होनी है सुनवाई

उन्‍होंने कहा, ”यह अच्‍छी बात है कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्‍ट्राइक की, लेकिन हम अभी भी मानते हैं कि मसले सुलझाने के लिए बातचीत सबसे अच्‍छा रास्‍ता है।” सर्जिकल स्‍ट्राइक शब्‍द पर चुटकी लेते हुए उन्‍होंने कहा, ”बीजेपी वाले नया-नया शब्‍द लाते हैं, सर्जिकल क्‍या होता है? लड़ाई लड़ाई होती है। यहां गांव में लोग समझ नहीं पाते।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 6, 2016 4:48 pm

  1. No Comments.

सबरंग