April 25, 2017

ताज़ा खबर

 

सपा सरकार पर अमित शाह का निशाना- जहां दिन दहाड़े बलात्कार होते हों, वहां निवेश कौन करेगा

अमित शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विकास की बात करते हैं। विकास कोई भी कर सकता है बशर्ते भू माफिया आपकी (सपा) पार्टी में ना हों और समाजविरोधी तत्व ना हों।

Author लखनऊ | November 12, 2016 17:43 pm
नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह। (PTI Photo by Subhav Shukla/11 Nov, 2016)

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश की सपा सरकार पर निशाना साधते हुए शनिवार (12 नवंबर) को कहा कि जिस जगह दिन दहाड़े अपराध होते हों और कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो गयी हो, वहां कोई निवेश करने नहीं आएगा। शाह ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘इस प्रदेश में कौन निवेश करेगा, जहां दिन दहाड़े रोड पर बलात्कार हो। जहां फिरौती के लिए अपहरण हो और जहां भू माफिया सक्रिय हो, जहां दंगे होते हों और कानून व्यवस्था ध्वस्त हो।’ उन्होंने कहा कि भाजपा उत्तर प्रदेश के युवाओं की स्थिति में परिवर्तन करना चाहती है। वह चाहती है कि प्रदेश का युवा विश्व के युवा के साथ प्रतिस्पर्धा के लिए मजबूती से तैयार हो। शाह ने कहा कि प्रदेश सरकार केंद्र की योजनाओं को तवज्जो नहीं देती। केंद्र की योजनाओं का फायदा प्रदेश को नहीं मिला। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फायदा उत्तर प्रदेश के किसानों को नहीं मिला क्योंकि बीमा किस कंपनी को देना है, तय ही नहीं हो पाया।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विकास की बात करते हैं। विकास कोई भी कर सकता है बशर्ते भू माफिया आपकी (सपा) पार्टी में ना हों और समाजविरोधी तत्व ना हों। अगर ऐसी पार्टी तो विकास किया जा सकता है। शाह ने तंज कसा कि अखिलेश को ये सब विरासत में मिला है। इसमें सुधार नहीं हो सकता। भाजपा जिन जिन राज्यों में सत्ता में आयी, वहां कानून व्यवस्था के आंकड़े सबसे अच्छे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की सारी योजनाएं धरी की धरी रह गयीं क्योंकि कार्यान्वयन के लिए कोई एजेंसी नहीं है। लखनउच्च् में परिपत्रों में उलझकर रह गयीं। योजनाएं पूर्वांचल के गांवों तक नहीं पहुंचती। शाह ने कहा कि जब तक उत्तर प्रदेश का विकास नहीं होता, देश का विकास नहीं हो सकता। जीडीपी दर दोहरे अंक में तभी पहुंच सकती है, जब उत्तर प्रदेश विकास का इंजन बने।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 12, 2016 5:43 pm

  1. R
    Raju
    Nov 14, 2016 at 11:14 am
    साल तड़ीपार दूसरे को नसीहत दे रहा हैं अपने गरीबन में नहीं देखता
    Reply

    सबरंग