ताज़ा खबर
 

आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी को मिला टैंक, लगे भारतीय सेना जिंदाबाद के नारे

आजम खान ने बताया कि सेना ने देश भर से आए आवेदनों पर विचार करने के बाद 11 विश्वविद्यालयों को टैंक दिया।
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर के विधायक आजम खान। (फाइल फोटो)

छात्रों में देशभक्ति की भावना बढ़ाने के लिए विश्वविद्यालय में सेना के टैंक रखने का सुझाव जेएयू के वाइस-चांसलर जगदीश कुमार ने दिया था लेकिन इसे अमली जामा पहनाने का श्रेय समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने पाया। रामपुर स्थित मौलाना जौहर अली उर्दू विश्वविद्यालय के कैंपस में बुधवार (11 अक्टूबर) सेना का भेजा हुआ टैंक पहुंच गया। इस यूनिवर्सिटी के संस्थापक और चांसलर सपा विधायक आजम खान हैं। दैनिक जागरण की खबर के अनुसार आजम खान ने कहा कि सेना ने हमारी यूनिवर्सिटी को टैंक देकर सम्मान बढ़ाया है। टैंक पहुंचा तो छात्रों ने जोशो खरोश से उसका स्वागत किया। खबर के अनुसार सेना का चाबुक टैंक विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग के छात्रों को प्रशिक्षण देने के लिए आया है। टैंक के पहुंचने पर छात्रों ने आजम खान जिंदाबाद, जौहर यूनिवर्सिटी जिंदाबाद और भारतीय सेना जिंदाबाद के नारे लगाये।

रिपोर्ट के अनुसार छात्रों के हुजूम ने जुलूस की शक्ल ले ली थी। रिपोर्ट के अनुसार सेना ने बेकार हो चुके टैंक को 1.96 लाख रुपये में यूनिवर्सिटी को दिया है। दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार आजम खान ने कहा कि सेना से हजारों यूनिवर्सिटी ने टैंक के लिए आवेदन किया था लेकिन केवल 11 यूनिवर्सिटी को ये मिले। आजम खान ने कहा कि सेना ने उनकी यूनिवर्सिटी को अच्छा समझ कर ही टैंक देने का फैसला लिया। आजम खान ने सेना का इसके लिए शुक्रिया कहा। आजम ने कहा कि वो चाहते हैं कि सेना उन्हें हेलीकॉप्टर, तोप और लड़ाकू जहाज भी दे ताकि वो यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन के लिए रखे जा सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    BHARAT
    Oct 12, 2017 at 11:23 am
    सच क्या है यह बताओ, दर्द हो रहा है ना !
    (0)(0)
    Reply
    1. R
      ram
      Oct 12, 2017 at 9:14 am
      अमेठी की जनता सोचती थी की अमित शाह जी, 50 हजार से 80 करोड़ तक कारोबार बनाने की स्कीम बताएँगे। पर शायद यह स्कीम सिर्फ #शाह_जादा के लिए है ! अमित शाह जी अगर विकास की CM आदित्यनाथ को दे देते, तो गोरखपुर में 3 महीने में 460 और पिछले 24 घंटों में फिर 16 बच्चे अपनी जान न खोते। अमित शाहजी गोरखपुर कब जा रहे हैं? वहां 5 बार के MP व CM ने जो विकास का विनाश किया है, वह BRD मे ल कॉलेज के बच्चों की सिसकियों में दिखता है।
      (3)(1)
      Reply
      सबरंग