ताज़ा खबर
 

अखिलेश यादव ने साफगोई से किया बयान- किस्‍मत से बना सीएम, यूपी में राजनीति करना है बहुत मुश्किल

लगभग 25 साल में उत्तर प्रदेश की राजनीति में कोई सरकार लगातार दो बार सत्ता में नहीं आई।
Author लखनऊ | August 31, 2016 19:23 pm
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश जैसे बडे राज्य में सबसे कम उम्र में मुख्यमंत्री बनने वाले अखिलेश यादव ने आज अपनी इस उपलब्धि का श्रेय विनम्रता पूर्वक अपने पिता मुलायम सिंह यादव के आशीर्वाद और भाग्य को दिया है। अखिलेश ने आज विधानसभा में भावुक स्वर में कहा, ’’मुझे यह अवसर नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने दिया है…यह डेस्टिनी (नियति) है…कई बार भाग्य से चीजें मिल जाती है…दूसरे लोगों को इस पद तक पहुंचने के लिए बहुत मेहनत करनी पडती है।’’ लगभग साढे चार साल पहले 15 मार्च 2012 को 38 वर्ष की उम्र में सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री बने अखिलेश ने सदन में 25 साल अथवा इससे अधिक का कार्यकाल तक सदस्य रह चुके 10 वरिष्ठ विधायकों को सम्मानित करने के बाद सदन को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने सहज भाव में कहा, ’’राजनीति से कठिन कोई काम नहीं है…जिन विधायकों ने 25 अथवा इससे अधिक समय तक सदन के सदस्य रहने का गौरव प्राप्त किया है। उन्होंने निश्चित ही जनता का दिल जीता होगा।’’

अखिलेश ने मनोविनोद के लहजे में कहा, ’’हम सभी लोग 25 साल पूरा करें…परिवर्तन प्रकृति का नियम है…परिवर्तन होता है और हम चाहते है कि हम दोबारा (वर्ष 2017 विधानसभा चुनाव) सत्ता में आये।’’ गौरतलब है कि लगभग 25 साल में उत्तर प्रदेश की राजनीति में कोई सरकार लगातार दो बार सत्ता में नहीं आई। मुख्यमंत्री ने आज सदन में जिन 10 विधायकों को सदन में 25 अथवा इससे अधिक वर्षों के लिए अपनी सेवाओं के लिए सम्मानित किया उनमें विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय, संसदीय कार्यमत्री आजम खां के अलावा अवधेश प्रसाद, दुर्गा प्रसाद यादव, नारायण सिंह यादव, राजीव कुमार सिंह और राम गोविंद चौधरी (सभी सपा सदस्य) के अलावा भाजपा के सुरेश खन्ना तथा श्याम सुंदर राय चौधरी एवं बसपा के श्याम सुंदर शर्मा शामिल है। सम्मानित सदस्यों को मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष की तरफ से शाल और स्मृति चिन्ह भेंट किये गये।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग