December 03, 2016

ताज़ा खबर

 

अखिलेश यादव ने नोटों के बैन को लेकर उठाए सवाल, कहा- हम भी काले धन के खिलाफ हैं लेकिन…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोट की वैधता अचानक खत्म किये जाने पर सवाल खड़े करते हुए इसे जल्दबाजी में लिया गया फैसला बताया।

Author लखनऊ | November 9, 2016 18:07 pm

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार द्वारा 500 और 1000 रुपए के नोट की वैधता अचानक खत्म किये जाने पर सवाल खड़े करते हुए इसे जल्दबाजी में लिया गया फैसला बताया। उन्होंने आज आशंका जतायी कि हो सकता है कि प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ऐसा किया गया है। मुख्यमंत्री ने यहां एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि केंद्र सरकार ने जिस तरह से 500 और 1000 रुपए  के नोटों का चलन बंद किया है, उससे लोगों को अभूतपूर्व संकट का सामना करना पड़ रहा है।
उन्होंने कहा, ‘केंद्र सरकार ने जल्दबाजी में फैसला लिया है। प्रधानमंत्री इस कदम को उठाने से पहले संसद में इस पर चर्चा कर सकते थे।’’
मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हम भी काले धन के खिलाफ हैं। यह :500 और हजार के नोटों का चलन बंद करना: कोई स्थायी समाधान नहीं है। हो सकता है कि यह उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव को देखकर ऐसा किया गया हो। उनकी  तैयारी पूरी है नहीं। लोकसभा का सत्र भी होने वाला है।’

 

अखिलेश ने कहा, ‘‘पॉल्यूशन, करप्शन और कालाधन में जब तक जनता का सहयोग नहीं मिलेगा तब तक कुछ नहीं होगा।’ इसके पूर्व, अखिलेश ने एक ‘ट्वीट’ में भी कहा था कि इन दिनों शादियों का मौसम है। ऐसे में बड़ी नोट की वैधता खत्म किये जाने से लोगों पर मुसीबत आन पड़ी है, लिहाजा केंद्र सरकार को विवाह के खर्च के लिये 500 और 1000 के नोट के चलन को मंजूरी देनी चाहिये। इस बीच, देश में 500 और 1000 के करेंसी नोट की वैधता समाप्त होने के बाद उपजे अभूतपूर्व हालात और कानून-व्यवस्था के लिये उभरी अजीबोगरीब चुनौतियों के मद्देनजर उत्तर प्रदेश पुलिस को खासकर बैंक शाखाओं और पेट्रोल पम्प समेत विभिन्न संवेदनशील स्थानों पर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिये गये हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 9, 2016 6:05 pm

सबरंग