May 29, 2017

ताज़ा खबर

 

अगर बिहार में चुनाव होता, तो मोदी वहां रावण वध करने जाते: अखिलेश यादव

राहुल गांधी के 'ख़ून की दलाली' बयान पर अखिलेश यादव बोले- उन्होंने कुछ सोच-समझकर ही कहा होगा।

Author लखनऊ | October 10, 2016 20:32 pm
लखनऊ में लोकभवन का उद्घाटन करने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए। (PTI Photo by Nand Kumar/10 Oct, 2016)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ ‘दलाली’ सम्बन्धी टिप्पणी करने वाले कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की तरफदारी करते हुए सोमवार (10 अक्टूबर) को कहा कि उन्होंने कुछ सोच-समझकर ही वह बयान दिया होगा। मुख्यमंत्री ने अपने सरकारी आवास पर आयोजित कार्यक्रम से इतर राहुल के ‘दलाली’ सम्बन्धी बयान को लेकर उठे विवाद के बारे में कहा ‘कांग्रेस का सवाल नहीं है, पर राहुल गांधी से हमारे अच्छे सम्बन्ध हैं। अगर उन्होंने बयान दिया है तो जरूर कुछ सोच-समझकर दिया होगा। उसके पीछे उन्हें कुछ जानकारी होगी।’ मालूम हो कि राहुल ने अपनी किसान यात्रा के समापन अवसर पर हाल में आयोजित एक सभा में कहा था कि मोदी पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सेना के लक्षित हमले का राजनीतिकरण फायदा ले रहे हैं। वह जवानों के खून की दलाली कर रहे हैं। राहुल की इस टिप्पणी को लेकर खासा विवाद खड़ा हो गया था।

दशहरे के मौके पर मंगलवार (11 अक्टूबर) को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लखनऊ दौरे के बारे में उन्होंने कहा, ‘अगर बिहार में चुनाव होता, तो वह (मोदी) वहां रावण वध करने जाते।’ अखिलेश ने कहा ‘त्यौहार को राजनीति से नहीं जोड़ना चाहिए। मोदी लखनऊ आ रहे हैं, वह हमें कोई बड़ी चीज देंगे। हमें प्रदेश की तरक्की के लिए उनसे बड़ी उम्मीदें हैं।’ कौमी एकता दल के सपा में विलय के सवाल पर मुख्यमंत्री ने खुलकर कुछ कहे बगैर प्रतिक्रिया दी ‘इस पर मेरी राय और विचार क्या हैं, ये आप जानते हैं।’ मुख्यमंत्री ने इस मौके पर वर्ष 2013 के मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान लापता हुए 18 लोगों के परिजन को 15-15 लाख रुपए के चेक वितरित किए। अखिलेश ने कहा कि कोई भी दंगा नहीं चाहता था लेकिन ऐसा माहौल बना कि फसाद हो गया। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार दंगा पीड़ितों की हर सम्भव मदद की कोशिश कर रही है। मालूम हो कि सितम्बर 2013 में मुजफ्फरनगर में भड़के दंगों में 60 से ज्यादा लोग मारे गए थे तथा 40 हजार से अधिक अन्य बेघर हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 10, 2016 8:31 pm

  1. D
    Dev Verma
    Oct 11, 2016 at 1:37 pm
    कुटटी की साथ बैठ कर तू भी हो गया,और कुछ नहीं तो बोवनकना आ गया.
    Reply
    1. N
      Narendra Batra
      Oct 11, 2016 at 9:13 am
      तेरे साथ जो रवां बैठा है उसका दहन करवाना है क्या भड़वे ये बता वो भी कर देंगी जनता समझ meghnath
      Reply

      सबरंग