ताज़ा खबर
 

चाची ने 17 दिन के भतीजे को अस्पताल की छत से फेंका, कहा- रोज सुनने को मिलते थे ताने

महिला ने कहा कि मेरी तीन बेटियां है और एक भी दिन ऐसा नहीं बीता जिस दिन मुझे यह कहकर ताना न मारा गया हो कि मैं एक लड़के को जन्म नहीं दे सकी।
representative image

यूपी के कानपुर में सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से दिलदहलाने वाली घटना का खुलासा हुआ। यहां एक महिला ने 17 दिन के बच्चे को अस्पताल की छत से फेंक दिया। पुलिस ने बताया कि महिला ने नवजात को इसलिए फेंक दिया क्योंकि उसे लगता था लड़के का जन्म फैमिली में उसके स्टेटस को कम कर देगा। महिला बच्चे की चाची है और तीन बेटियां की मां है। महिला को गिरफ्तार कर मामला दर्ज कर लिया गया है।

पुलिस के मुताबिक सरिता नाम की महिला ने बताया कि अनमोल (बच्चा) के पैदा होने के बाद से उसे डर था कि परिवार में विवाद खड़े हो सकते हैं। साथ ही अनमोल की मां को उससे ज्यादा सम्मान मिलेगा। महिला ने कहा कि मेरी तीन बेटियां है और एक भी दिन ऐसा नहीं बीता जिस दिन मुझे यह कहकर ताना न मारा गया हो कि मैं एक लड़के को जन्म नहीं दे सकी।

एचटी के मुताबिक पुलिस ने बताया कि बच्चे का जन्म अगस्त महीने में हुआ था और कुछ कॉम्पलीकेशंस के चलते अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसके माता-पिता रविवार रात को उसे अस्पताल में छोड़कर चले गए थे। करीब 4.30 बजे चाची सरिता ने शोर मचाया कि बच्चा गायब हो गया है। अस्पताल स्टाफ ने ढूढ़ने की कोशिश की लेकिन बच्चा नहीं मिला। इसी दौरान एक कॉन्सटेबल को बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी। आवाज को फॉलो करने के बाद बच्चा मिला। बच्चा अस्पताल की छत से 16 फुट नीचे लगाए गए लोहे की जाली में अटका हुआ था।

अस्पताल प्रशासन ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। बाद में सीसीटीवी कैमरे के फुटेज की जांच में सरिता 4 बजे के करीब बच्चे छत पर लेकर जाती हुई दिखी। लेकिन जब वह वापस आई तो उसके पास बच्चा नहीं थी। जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.