December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

इस आईपीएस की सादगी पर कौन न हो जायें फिदा, सरकारी बस से जिले का चार्ज लेने पहुंचे

चौधरी ने गुरुवार को बताया कि बलिया से ट्रांसफर के बाद वह अपने घर लखनऊ गए तीन दिन वहां गुजारने के बाद वह कल लखनऊ बस स्टेशन से रोडवेज बस पकड़कर कानपुर देहात के माती एसपी कार्यालय पहुंचे और कार्यभार संभाला।

Author कानपुर | October 20, 2016 15:03 pm
प्रभाकर चौधरी। Image: Facebook

पड़ोसी जिले कानपुर देहात के नये एसपी और आईपीएस आफिसर प्रभाकर चौधरी की सादगी पर कौन न फिदा हो जायें। जहां एक ओर नये एसपी जिले का चार्ज लेने सरकारी प्राइवेट गाड़ियों के काफिले से पहुंचते है वहीं प्रभाकर कानपुर देहात के एसपी का चार्ज लेने लखनऊ रोडवेज की सरकारी बस से पहुंचे। इस बारे में चौधरी ने पीटीआई से कहा ‘‘इसमें कौन से नयी बात है जब मैं सरकारी डयूटी पर नही होता हूं तो मैं सरकारी बस से ही यात्रा करता हूं लेकिन जब क्षेत्र में दौरा करने जाता हूं तो मैं सरकारी वाहन का प्रयोग करता हूं, आखिर क्यों मैं अपनी पर्सनल यात्रा के लिये सरकारी वाहन का इस्तेमाल करूं’’। प्रभाकर चौधरी वर्ष 2010 बैच के आईपीएस है। वह एसपी बलिया के पद पर तैनात थे, पांच दिन पहले उनका तबादला कानपुर देहात जिले के एसपी पद पर हुआ। इससे पहले वह कानपुर शहर के एसपी सिटी भी रह चुके है। सादगी पसंद और मृदुभाषी चौधरी व्यवहार में जहां बहुत ही कोमल है वहीं अपराधियों और बदमाशों के खिलाफ बहुत ही सख्त।

Speed News: जानिए दिन भर की पांच बड़ी खबरें

चौधरी ने गुरुवार को बताया कि बलिया से ट्रांसफर के बाद वह अपने घर लखनऊ गए तीन दिन वहां गुजारने के बाद वह कल लखनऊ बस स्टेशन से रोडवेज बस पकड़कर कानपुर देहात के माती एसपी कार्यालय पहुंचे और कार्यभार संभाला। कानपुर देहात के पुलिस सूत्रों ने बताया कि कल जब चौधरी एसपी कार्यालय एक बैग के साथ पहुंचे तो वहां लोग उन्हें पहचान नही पायें। जब उन्होंने खुद को जिले का नया कप्तान बताया तो एसपी आफिस में हड़कंप मच गया।

Read Also: कानपुर: धम्म यात्रा के समापन में शामिल होंगे शाह

हाल ही में कानपुर देहात जिले की ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रतिभा गौतम की मौत का रहस्य गहरा गया है क्योंकि उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके हाथ पैरों में डंडे से पिटाई के जख्म और एक हाथ की कलाई में ब्लेड से काटने के छह और दूसरे हाथ की कलाई में आठ निशान मिले हैं। आशंका जताई जा रही है कि प्रतिभा का गला घोंटने के बाद उसे फांसी पर लटकाया गया। वह तीन महीने के गर्भ से भी थी। एसएसपी शलभ माथुर ने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर प्रतिभा के पति मनु अभिषेक गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है। घर के नौकरों से भी पूछताछ की जा रही है।

Read Also: कानपुर देहात की मजिस्ट्रेट की हत्या में पति गिरफ्तार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 20, 2016 3:03 pm

सबरंग