December 11, 2016

ताज़ा खबर

 

Diwali 2016: धनतेरस और छोटी दीपावली पर कानपुर के बाजार रहे गुलजार

सर्राफा व्यापारियों का मानना है कि इस बार पिछले साल की तुलना में सोने-चांदी की खरीददारी अधिक हुई और अभी और होने की उम्मीद है।

Author कानपुर | October 30, 2016 04:27 am
दीवाली ।

आम आदमी पर मंहगाई की मार के असर के बावजूद इस बार धनतेरस और आज छोटी दीवाली पर औद्योगिक शहर कानपुर के बाजारों में काफी रौनक रही। सर्राफा व्यापारियों का मानना है कि इस बार पिछले साल की तुलना में सोने-चांदी की खरीददारी अधिक हुई और अभी और होने की उम्मीद है। इसके अलावा मोबाइल, वाहन बिक्री भी पिछले सालों की तुलना में अधिक रही। मिठाई की दुकानों के मालिक बहुत खुश हैं। मशहूर ठग्गू के लडडू के मालिक प्रकाश पांडे कहते है कि हमारे यहां तो जबरदस्त बिक्री हुई और अभी भी हो रही है। यूपी सर्राफा एसोसिएशन और बिरहाना रोड एसोसिएशन के सदस्य मोहन अग्रवाल ने शनिवार बताया कि धनतेरस पर रात एक बजे तक कानपुर का सर्राफा बाजार खुला रहा और आज एसोसिएशन ने जब आंकड़े एकत्र किया तो पता चला कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार कानपुर में अधिक सोना-चांदी और जेवरात खरीदा गया।

उन्होंने बताया कि लोग गहनों के अलावा निवेश की दृष्टि से सोना-चांदी में पैसा लगा रहे हैं। जनता इस बार सोने के सिक्के अधिक खरीद रही है। उन्होंने कहा कि इस बार हम सर्राफा व्यापारियों की काफी अच्छी बिक्री हुई है। कमोबेश यही हाल पूरे बाजार का रहा सोने-चांदी के छोटे आभूषणों और सिक्कों की बिक्री में तो बढ़ोतरी हुई लेकिन भारी और मंहगे जेवरों की बिक्री में कमी आई। मोटरसाइकिल और स्कूटर विक्रेता, एक्सिस होंडा के मालिक जेएस अरोड़ा प्रिंस के मुताबिक पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष मोटरसाइकिल स्कूटर की बिक्री अधिक हुई। शाम तक आलम यह रहा कि शो रूम में मौजूद सभी वाहन बिक गऐ और जो लोग वाहन नही ले जा सकें वह पैसा जमाकर गए। उन्हें एक दो दिन में वाहनों की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस बार होंडा की शाइन और ड्रीम वाहनों की बिक्री बहुत हुई। उन्होंने संभावना व्यक्त की कि अभी दो दिन में बाइक की बिक्री और बढ़ेगी।

मंदिरों में दलितों के खिलाफ भेदभाव को खत्म करने के लिए दलितों, आदिवासियों ने एक साथ मनाई दिवाली

वहीं कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक सामान कंपनी कामेक्सियल कंपनी के मालिक रोहित कोहली के मुताबिक इस बार ग्राहक लैपटॉप और टैब खरीदने के लिए ज्यादा आए। वहीं कुछ लोगों ने मोबाइल फोन भी खरीदें। मोबाइल फोन और लैपटॉप पर काफी आकर्षक आॅफर भी रखे गए थे। अभी दो दिन और दुकानों में भीड़ रहेगी।  शहर में मिठाई की दुकानों पर ज्यादा भीड़ दिखी। मशहूर ठग्गू के लडडू के मालिक प्रकाश पांडे ने कहा कि हमारे पास तो इतने आॅर्डर हैं कि हम आपूर्ति नही कर पा रहे हैं। उन्होंनेबताया कि हमारे लड्डू असली खोये और मेवे के बनते हैं और पिछले 50 साल से अधिक लोगोें का भरोसा है इसलिए लोग हमारे यहां खिंचे चले आते हैं। पिछले साल की तुलना में इस बार लड्डूओं और मिठाई के भाव में 30 से 40 रुपए की बढ़ोतरी हुई है लेकिन उसके बावजूद ग्राहकों की संख्या में कोई कमी नही आई है। कुछ इसी तरह की मिठाई की बिक्री शहर के बनारसी लड्डू और जागृृति मिष्ठान भंडार में भी देखने को मिली।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on October 30, 2016 4:27 am

सबरंग