ताज़ा खबर
 

इंदौर पटना एक्‍सप्रेस हादसा: 142 पहुंची मरने वालों की संख्‍या, फोर‍ेंसिक जांच होगी

राहत कार्य को मुख्‍य रूप से एनडीआरएफ, आर्मी, यूपी पुलिस और आरएएफ की टीमों ने अंजाम दिया।
हादसे के बाद राहत एवं बचाव का कार्य जोरों पर है। (Photo: AP)

इंदौर पटना एक्‍सप्रेस हादसे में मरने वालों की संख्‍या 142 हो गई है। सोमवार को पुलिस ने बताया कि राहत कार्य पूरा कर लिया गया है। हाल के वर्षों के सबसे भीषण हादसों में से एक में रविवार को कानपुर के पुखरायण के करीब ट्रेन के 14 डिब्‍बे पटरी से उतर गए थे। रविवार तड़के 3 बजे हुए हादसे के वक्‍त ज्‍यादातर लोग नींद में थे। हादसे में 200 से ज्‍यादा लोग घायल हुए हैं, जिन्‍हें निकालकर पास के अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है। केंद्र व राज्‍य सरकार ने मृतकों व घायलों के लिए मुआवजे का ऐलान कर दिया है। राहत कार्य को मुख्‍य रूप से एनडीआरएफ, आर्मी, यूपी पुलिस और आरएएफ की टीमों ने अंजाम दिया। मौके पर पुखरायण गांव के लोग सबसे पहले पहुंचे और उन्‍होंने ही रेल अधिकारियों को हादसे की जानकारी दी। रेलवे ने हादसे की जांच शुरू कर दी है। रेल राज्‍य मंत्री मनोज सिन्‍हा ने रविवार को घटनास्‍थल का निरीक्षण करते समय कहा था कि रेल में फ्रैक्‍चर और पहियों का जाम होना हादसे की वजह हो सकता है।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, रेलवे मंत्री सुरेश प्रभु, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और विभिन्न अन्य नेताओं ने ट्रेन हादसे में लोगों की मृत्यु पर शोक जताया। अखिलेश यादव ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए, जबकि मोदी ने दो-दो लाख रूपए सहायता राशि देने की घोषणा की है।

रेल मंत्री ने अपनी ओर से मृतकों के परिजनों को मिलने वाली मुआवजे की राशि को दो लाख रूपए से बढ़ाकर 3.5 लाख रुपए कर दिया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपए और सामान्य चोटिल लोगों को 25-25 हजार रुपए देने की घोषणा की है।

रेलवे ने हादसे के लिए हेल्पलाइन नंबर शुरू किए हैं, जो इस प्रकार हैं …. इंदौर 07411072, उज्जैन 07342560906, रतलाम 074121072, उरई 051621072, झांसी 05101072, पोखरायां 05113270239।

उत्तर-मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अरूण श्रीवास्तव ने कहा कि कानपुर-झांसी रेलमार्ग पर यातायात 36 घंटे में शुरू हो जाएगा। हादसे के बाद से चार ट्रेनें रद्द कर दी गयी हैं और 14 ट्रेनों का रास्ता बदल दिया गया है।

भीषण ट्रेन हादसा, देखें वीडियो: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग