ताज़ा खबर
 

मदर्स डे: शौच के लिए बाहर जाने पर 102 साल की सास की टूटी तांग, बकरियां बेचकर 80 साल की बहू ने टॉयलेट दिया गिफ्ट

चंदना ने अपनी सास को सहूलियत देने के लिए अपनी पाचों बकरियां बेच दी।
चांदना के बेटे राम प्रकाश ने बताया कि मदद के लिए चांदना ने गांव के सरपंच से लेकर जिला मुख्यालय तक सब जगह गुहार लगाई लेकिन किसी ने उनकी कोई मदद नहीं की।

आज पूरा देश मदर्स डे मना रहा है। लेकिन मदर्स डे पर जैसा गिफ्ट कानपुर की एक महिला ने अपनी सास को दिया ऐसा गिफ्ट शायद ही किसी ने दिया हो। 80 साल की एक महिला चांदना ने अपनी पांच बकरी बेचकर अपनी 102 साल की सास को टॉयलेट गिफ्ट किया है। चंदना ने अपनी सास को सहूलियत देने के लिए अपनी पाचों बकरियां बेच दी। इस पूरे काम में उन्हें किसी सरकारी महकमे से मदद नहीं मिली। अब सरकार चांदना की प्रयास को सम्मान देने के लिए उन्हें ग्रामीण भारत के स्वच्छता बढ़ाने के भारत सरकार के अभियान की एंबेसडर बनाने पर विचार कर रही है। चांदना ने बताया कि जब उनकी वृद्ध सास का शौच के लिए बाहर जाने पर गिरने से पैर की हड्डी टूट गई थी। जिसके बाद ही उन्होंने निर्णय ले लिए के वो अपनी सास के लिए टॉयलेट बनाएंगी।

चांदना के बेटे राम प्रकाश ने बताया कि मदद के लिए चांदना ने गांव के सरपंच से लेकर जिला मुख्यालय तक सब जगह गुहार लगाई लेकिन किसी ने उनकी कोई मदद नहीं की। इसके बाद उन्होंने तय कर लिया कि वो स्वयं ही टॉयलेट का निर्माण करेंगी। सरकार की तरफ से मदद ना मिलने पर भी चांदना निराश नहीं हुई और अपने दम पर ही उन्होंने जो ठाना वो कर के दिखाया। आर्थिक रूप से बेहद कमजोर होने के कारण उन्होंने अपनी पांचों बकरियां बेच दी ताकि वो मदर्स डे पर अपनी सास को ये स्पेशल गिफ्ट दे सकें। इस पूरे मसले पर जब गांव के सरपंच से बात की गई तो उन्होंने सारा ठीकरा जिला अधिकारी पर फोड़ दिया। उन्होंने कहा,” हमने समय रहते नामों की लिस्ट जिला मुख्यालय को भेज दी थी लिए अब तक एक भी टॉयलेट नहीं बन सका है।” वहीं जिला मुख्यालय से जुड़े अधिकारी ने चांदना के प्रयास की सरहाना की है और कहा कि इस पूरे मसले की जांच करेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग