ताज़ा खबर
 

‘योगी राज’ में शिया मुस्लिम युवकों ने बनाया ‘गौरक्षक दल’, कहा- गौहत्या के खिलाफ लोगों को करेंगे जागरूक

5 अप्रैल को ऑल इंडिया शिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने गोहत्या पर लगे प्रतिबंध को सही ठहराया था।
शिया मुस्लिम गौ रक्षा दल के सदस्य लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेन्स करते हुए। (फोटो-ट्विटर)

उत्तर प्रदेश में शिया मुस्लिम युवकों के एक गुट ने गौ रक्षक दल का गठन किया है। लखनऊ के प्रेस क्लब में आज (7 अप्रैल को) एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर इस दल ने कहा कि वेलोग राज्य भर में लोगों को खासकर मुस्लिमों को गोहत्या के खिलाफ जागरूक करेंगे। गौरतलब है कि दो दिन पहले ही ऑल इंडिया शिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने गोहत्या पर लगे प्रतिबंध को सही ठहराया था। इसके साथ ही शिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के मुताबिक राम मंदिर के मुद्दे को आपसी बातचीत के जरिए सुलझाने पर जोर दिया था।

गौरतलब है कि एक तरफ जहां देश में गौहत्या के आरोप में गौरक्षकों द्वारा मुस्लिमों पर हमले हो रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार आने के बाद शिया समुदाय के मुसलमानों ने योगी सरकार के कई फैसलों पर अपनी सहमति दी है। इनमें गोहत्या पर बैन को समर्थन देना और अवैध बूचड़खानों को बंद करने का भी समर्थन शामिल है। इसके अलावा शिया मुसलमानों ने राम मंदिर और तीन तलाक के मुद्दे पर भी भाजपा की राह पकड़ी है।

बता दें कि 5 अप्रैल को शिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कार्यकारिणी की बैठक में शिया मुसलमानों को अलपसंख्यक कोटे में अलग से अधिकार देने की भी मांग की गई थी। इसके साथ ही सच्चर कमेटी की तर्ज पर शिया मुसलमानों के शैक्षणिक और आर्थिक हालात का सर्वे कराने की भी मांग की गई है।

ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने केंद्र सरकार से ट्रिपल तलाक को बैन करने वाला कानून बनाने की मांग की है। इसके साथ ही बोर्ड ने सुप्रीम कोर्ट के उस निर्देश का भी समर्थन किया है जिसमें कहा गया है कि अयोध्या विवाद को आपसी सहमति से सुलझाना चाहिए। यह सभी प्रस्ताव लखनऊ में बुधवार को हुई एक मीटिंग में पारित किए गए।

वीडियो: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने कहा- "सूर्य नमस्कार और नमाज एक समान"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.