May 23, 2017

ताज़ा खबर

 

मुलायम सिंह यादव के घर बिजली विभाग के अफसरों का धावा, गलत ढंग से इस्तेमाल की शिकायत

77 वर्षीय मुलायम सिंह पर चार लाख रुपये बिजली बकाया का भी आरोप है। बिजली विभाग के अधिकारियों ने बकाया राशि के भुगतान के लिए एक महीने का वक्त दिया है।

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बातचीत करते हुए। (फोटो-एक्सप्रेस आर्काइव)

समाजवादी पार्टी के संरक्षक और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव योगी आदित्य नाथ सरकार के “नो वीआईपी कल्चर” के पहले बड़े शिकार हुए हैं। बिजली विभाग के अधिकारियों ने जांच के दौरान उन्हें निर्धारित और आवंटित मात्रा से ज्यादा बिजली खपत का दोषी पाया है। यह मामला उनके पैतृक गांव इटावा का है। बिजली विभाग के अधिकारी आज (20 अप्रैल को)  इटावा स्थित मुलायम सिंह के आवास पर पहुंचे थे। वहां उन लोगों ने पाया कि 5 किलोवाट प्रतिदिन बिजली खपत का कनेक्शन है लेकिन वहां आवंटित सीमा से आठ गुना ज्यादा बिजली खपत हो रही थी।

77 वर्षीय मुलायम सिंह पर चार लाख रुपये बिजली बकाया का भी आरोप है। बिजली विभाग के अधिकारियों ने बकाया राशि के भुगतान के लिए एक महीने का वक्त दिया है। अधिकारियों ने खपत की गई 40 किलोवाट बिजली के बकाया का भुगतान कराने के बाद ही बिजली खपत की सीमा बढ़ाने की बात कही है।

गौरतलब है कि मार्च से पहले मुलायम सिंह यादव के बेटे अखिलेश यादव साल 2012 के मार्च से साल 2017 तक राज्य के मुख्यमंत्री थे। तब इनमें से किसी अधिकारी की हिम्मत मुलायम सिंह के इटावा स्थित घर में दस्तक देने की नहीं थी लेकिन जैसे ही राज्य में भाजपा की रसरकार आई है, ये अधिकारी भी हरकत में आ गए हैं। जिस वक्त ये अधिकारी वहां पहुंचे थे, उस वक्त मुलायम सिंह लखनऊ में थे।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने एक महीने के कार्यकाल में यह संदेश देने की कोशिश की है कि राज्य में कानून का राज है। वो खुद सभी विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर रहे हैं और अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दे रहे हैं। योगी ने राज्य में बिजली की स्थिति सुधारने का भी फरमान जारी किया है। सरकारी आदेश के मुताबिक सभी शहरों और जिला मुख्यालयों में 24 घंटे, तहसीलों में 22 घंटे और गांवों में 18 घंटे बिजली देने का फैसला हुआ है। इस फैसले की भी पहली मार इटावा स्थित मुलायम सिंह के पैतृक गांव सैफई पर पड़ी जहां 24 घंटे रहने वाली बिजली में कटौती कर दी गई।

वीडियो: मोदी सरकार के आदेश के बाद बीजेपी नेताओं ने हटाई अपनी गाड़ियों से लाल बत्ती

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 20, 2017 8:53 pm

  1. A
    aasdf
    Apr 20, 2017 at 10:21 pm
    AC chala kar r-a-n-di-ya ch-o-dta hoga ...
    Reply
    1. A
      aasdf
      Apr 20, 2017 at 10:21 pm
      AC chala kar iya ta hoga mullayam
      Reply

      सबरंग