ताज़ा खबर
 

लॉकअप में बंद जुआरियों को छुड़ाने गये बीजेपी नेता, अकड़ दिखाई तो पुलिस के हाथों हो गई पिटाई

एसएचओ रोहित प्रसाद ने बताया कि बीजेपी नेता सिपाहियों से बदसलूकी करने लगे और जुआरियों को छुड़वाने की जिद पर अड़ गये।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पुलिस हिरासत में बंद जुआरियों को छुड़ाने गये एक बीजेपी नेता का दांव उलटा पड़ा। ये खबर उत्तर प्रदेश के बस्ती की है। यहां कप्तानगंज पुलिस ने शुक्रवार को जुआ खेलते कुछ लोगों को हिरासत में लिया था। स्थानीय बीजेपी नेता और हर्रैया विधानमंडल के उपाध्यक्ष संतोष गुप्ता इन जुआरियों को छुड़ाने पहुंचे। लेकिन पुलिस ने ऐसा करने से साफ इनकार कर दिया और कानूनी प्रक्रिया पालन करने की बात कही। लेकिन बीजेपी नेता संतोष गुप्ता अड़े गये और पुलिस से बदसलूकी करने लगे। बावजूद इसके पुलिस वालों ने उन्हें समझाना चाहा। हिन्दी वेबसाइट एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक एसएचओ रोहित प्रसाद ने बताया कि बीजेपी नेता सिपाहियों से बदसलूकी करने लगे और जुआरियों को छुड़वाने की जिद पर अड़ गये। थोड़ी ही देर बाद बीजेपी नेता पुलिसवालों की वीडियो बनाने लगे और पुलिस वालों के मना करने पर मारपीट पर उतारू हो गये। इस पर पुलिस वालों ने नेता जी की भी पिटाई की और लॉकअप में बद कर दिया।

ये खबर तुरंत ही इलाके में फैल गई। हर्रैया से बीजेपी विधायक अजय सिंह के भाई केके सिंह समेत कई स्थानीय बीजेपी नेता थाने पहुंच गये और संतोष गुप्ता को छोड़ने के दबाव बनाने लगे। बाद में पुलिस ने चालान करके इस नेता को छोड़ दिया। लेकिन इस घटना के बाद बीजेपी नेता नाराज हैं। उनका कहना है कि पुलिस ने बीजेपी नेताओं के साथ बदसलूकी की है और वो उसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। बीजेपी नेताओं का कहना है कि पूरे मामले की शिकायत एसपी से की गई है। अगर पुलिस इस मामले में कार्रवाई नहीं करती है तो वे आंदोलन को मजबूर होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    Jul 30, 2017 at 11:40 pm
    बीजेपी गुंडों बदमाशों की टोली है इनकी सभी चोर लुटेरों से सांठ गांठ है. इसी लिए बीजेपी राज में चोरी, हत्या, लूट, बलात्कार की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं.बल्कि बढ़ती जा रही हैं. यही राम राज का ट्रेलर है.
    (0)(0)
    Reply