ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: क्या पाकिस्तान के खिलाफ ‘जंग’ में उतर गया है बजरंग दल, देखिए वीडियो

बजरंग दल का कहना है कि इस संगठन का उद्देश्य सेवा, सुरक्षा और सद्भावना है और इसी पर चलते हुए हम अपने कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग दे रहे हैं।
हरदोई में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को दी जा रही है ट्रेनिंग (Youtube grab)

पाकिस्तान के गंदे मंसूबों के खिलाफ सबक सिखाने का जिम्मा यूं तो सुरक्षा एजेंसियों और सरकार का है। लेकिन उत्तर प्रदेश के हरदोई में जो हो रहा है उसे देखकर आप चौक जाएंगे। हरदोई में प्रशासन की आंखों के सामने बजरंग दल की सशस्त्र ट्रेनिंग चल रही है। न्यूज़ चैनल आज तक के मुताबिक इस ट्रेनिंग में उत्तर प्रदेश के कई जिलों से आए बजरंग दल के 200 कार्यकर्ता युद्ध जैसे माहौल में प्रशिक्षण ले रहे हैं। बजरंग दल के मुताबिक कार्यकर्ताओं को पाकिस्तान के खिलाफ ट्रेनिंग दी जा रही है। ताकि जरूरत पड़ने पर ये कार्यकर्ता पाकिस्तान को सबक सिखा सकें। बजरंग दल के इस कैंप में पूरा युद्ध जैसा माहौल है। यहां पर बकायदा पाकिस्तान की सीमा बनाई गई है। सिर पर हरा साफा पहने कुछ लोग पाकिस्तानियों के वेश में हैं। युद्ध भूमि में कई लाशें गिरी हुईं हैं। और इस तमाम पृष्ठभूमि में बजरंग दल के कार्यकर्ता अपना जौहर दिखा रहे हैं।

बता दें कि बजरंग दल अक्सर अपने कार्यकर्ताओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग देता है। लेकिन इस बार हरदोई के ट्रेनिंग कैंप में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइकल करने की ट्रेनिंग दी गई। यहां का दृश्य ऐसा था जैसे सेना को मिलिट्री ट्रेनिंग दी जा रही हो, आग के बीच से गुजरकर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने अपने साहस का परिचय दिया। यहां पर इन कार्यकर्ताओं को रायफल चलाना, लाठी चलाना सिखाया गया। यहीं नहीं कार्यकर्ताओं को एक्सरसाइज की भी ट्रेनिंग दी गई। युद्ध जैसे हालात बनाने के लिए इस ट्रेनिंग कैंप में पाकिस्तानी की सीमा बनाई गई। कुछ लोग पाकिस्तानी की ओर से लड़ रहे थे तो कुछ लोग ‘दुश्मन’ को जवाब देने में जुटे थे। बजरंग दल का कहना है कि इस संगठन का उद्देश्य सेवा, सुरक्षा और सद्भावना है और इसी पर चलते हुए हम अपने कार्यकर्ताओं को इसकी ट्रेनिंग दे रहे हैं। हालांकि प्रशासन की नाक के नीचे ऐसा ट्रेनिंग कई सवाल खड़े करता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग