ताज़ा खबर
 

गोरखपुर में बच्‍चों की मौत पर योगी चुप, सरकारी कार्यक्रम में गिनाते रहे इंसेफेलाइटिस की वजहें

उनके साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, केंद्रीय मंत्री ऊमा भारती और नरेंद्र तोमर व अन्य मौजूद रहे।
योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को इलाहाबाद में ‘गंगा ग्राम सम्मेलन’ कार्यक्रम का उद्घाटन किया (PTI Photo)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को इलाहाबाद में ‘गंगा ग्राम सम्मेलन’ कार्यक्रम का उद्घाटन किया। उनके साथ डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, केंद्रीय मंत्री ऊमा भारती और नरेंद्र तोमर व अन्य मौजूद रहे। कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ ने लोगों को संबोधित भी किया, हालांकि वह गोरखपुर में हुए हादसे पर एक शब्द नहीं बोले। पूरे कार्यक्रम में वह इंसेफेलाइटिस पर ही बोलते रहे।

उन्होंने इंसेफेलाइटिस को एक गंभीर चुनौती बताया। सीएम योगी ने कहा, “इंसेफेलाइटिस बीमारी 1978 से हैं। पूर्व यूपी का मासूम असमय अगर काल के गाल में समा रहा है इसके पीछे की वजह गंदगी और खुले में शौच करना है। यह एक संकट और एक चुनौती है हम सबके सामने। उसका समाधान भी निकाला है।” योगी आदित्य नाथ ने कहा कि सरकारें समस्या नहीं हो सकती। अगर सरकार स्वयं में समस्या है तो सरकार को फिर रहने का अधिकार नहीं।

बता दें कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से हुई मौत का आंकड़ा बढ़कर 63 हो गया है। आज (12 अगस्त को) भी 11 साल के एक बच्चे ने दम तोड़ दिया। वह भी इन्सेफ्लाइटिस से पीड़ित था। बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में  बच्चों की मौत की सरकार ने मेजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। कॉलेज के प्रिंसिपल आरके मिश्रा को निलंबित भी कर दिया गया है। अस्पताल को छावनी में तब्दील कर दिया गया है, वहां किसी तरह की अनोहनी की आशंका को देखते हुए भारी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात कर दिया गया है।

कांग्रेस ने बच्चों की मौत को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार की कड़ी निंदा की और राज्य के स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्रियों के इस्तीफे की मांग की। वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (यूपीसीसी) के अध्यक्ष राज बब्बर के नेतृत्व में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने शनिवार को गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल का दौरा किया और इस त्रासदी के लिए आदित्यनाथ से व्यक्तिगत तौर पर माफी मांगने को कहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manish agrawal
    Aug 12, 2017 at 7:00 pm
    मासूम बच्चों की मौत के जिम्मेदार बड़े अफसरों और मंत्रियों को बचाने के लिए मे ल कॉलेज के प्रिंसिपल महोदय को बलि का बकरा बनाया जा रहा है !अखिलेशजी , मायावतीजी और उत्तरप्रदेश कांग्रेस को मिलकर , मासूम बच्चों की दर्दनाक मौत के खिलाफ कृष्णजन्माष्टमी के दिन "उत्तरप्रदेश बंद" का आयोजन करना चाहिए ! उत्तरप्रदेश मैं " कृष्ण-जन्मोत्सव " स्थगित किये जाने चाहियें क्योंकि 60 से ज्यादा मासूम बच्चे पिछले 2-3 दिनों में मारे जा चुके हैं, ऐसे में कृष्णजन्म की बधाई लेने-देने वालों को क्या शर्म नहीं आएगी ?
    Reply
सबरंग