ताज़ा खबर
 

अपने लोगों को पुरस्कार देने के आरोप पर अखिलेश का जवाब, बोले- आप भी दे दो, हमनें कहां रोका

उत्तर प्रदेश के प्रतिष्ठित पुरस्कार यश भारती सम्मान वितरण मामले में सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सवालों के घेरे में हैं।
पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने पूछा शहीदों की सूची में गुजरात वालों का नाम तो दिखाओ। (File photo)

उत्तर प्रदेश के प्रतिष्ठित पुरस्कार यश भारती सम्मान वितरण मामले में सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सवालों के घेरे में हैं। पूर्व सीएम पर आरोप है कि उन्होंने अपने कुछ चहेतों को ये पुरस्कार दिए। खबर के अनुसार साल 2012 से 2017 के बीच जिन 200 लोगों को इस पुरस्कार से नवाजा गया उनमें करीब 150 लोगों का संबंध कहीं ना कहीं समाजवादी पार्टी से था। सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत मिली जानकारी के अनुसार महज मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखने भर के बाद 21 लोगों को ये पुरस्कार दे दिया गया। इनमें दो लोगों को पूर्व मंत्री राजा भैया की सिफारिश पर यश भारती सम्मान दे दिया गया था। गौरतलब कि इस पुरस्कार की शुरुआत पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने साल 1994 में की थी। यश भारती सम्मान में व्यक्ति को 11 लाख रुपए नकद, एक शॉल और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाता है। इसके साथ ही व्यक्ति को पचास हजार रुपए महीने की पेंशन भी दी जाती है।

हालांकि चुनिंदा लोगों ये पुरस्कार देने पर सवालों में घिरे अखिलेश यादव ने सूबे की सरकार पर पलटवार किया है। न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार अखिलेश यादव ने कहा, ‘हम तो कहते हैं आपकी सरकार है आप भी अपने खास लोगों को दे दो। हम कौनसा आपको रोक रहे हैं।’ पूर्व सीएम अखिलेश ने आगे कहा कि हमने 11 लाख और पचास हजार पेंशन दी। आपकी सरकार तो केंद्र में भी है। आपको तो एक लाख रुपए की पेंशन सुनिश्चित करनी चाहिए।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.