December 09, 2016

ताज़ा खबर

 

जनता को समर्पित हुआ ‘आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे’, वायुसेना के विमानों ने भी भरी उड़ान

यह सड़क दिल्ली और लखनऊ जैसी राजधानियों को जोड़ेगी। इसके किनारे उद्योग, पेट्रोल पंप और मंडियां होंगी।

Author November 22, 2016 00:20 am
मुंबई-पुणे एक्‍सप्रेसवे। (FILE PHOTO)

बांगरमऊ (उन्नाव)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की स्वप्निल परियोजना ‘आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे’ का सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने लोकार्पण किया। वायुसेना के विमानों के उड़ान एवं लैंडिंग के लिए भी उपयुक्त लगभग 302 किलोमीटर लम्बा यह एक्सप्रेस-वे जरूरत पड़ने पर हवाई पट्टी के तौर पर भी काम करेगा। सामरिक लिहाज से भी उम्मीद जगाने वाले देश के इस सबसे लंबे छह लेन के एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन अवसर पर भारतीय वायुसेना के सुखोई समेत अत्याधुनिक विमानों ने इस सड़क से उड़ान भरी। सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने 302 किलोमीटर लम्बे इस एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण अवसर पर इस परियोजना से जुड़े अधिकारियों की जमकर तारीफ की और कहा कि चार साल में बनने वाला यह एक्सप्रेस-वे इन अफसरों की मेहनत की बदौलत मात्र दो साल में ही बनकर तैयार हो गया। इसके लिये मुख्यमंत्री के साथ-साथ अधिकारी भी बधाई के पात्र हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जब एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करने की बात आयी थी, तो उन्होंने पूछा था कि यह सड़क कितने साल में बनेगी, जब इसके लिये चार साल का समय मांगा गया तो उन्होंने शिलान्यास से इनकार कर दिया था। बाद में 22 महीने का समय देकर आधारशिला रखी गयी थी। उसी का परिणाम है कि चार साल में बनने वाली सड़क दो साल में बन गयी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अधिकारियों में समय से पहले काम पूरा करा देने की क्षमता है। वह मुख्यमंत्री के साथ-साथ उनके अनेक सहयोगी अधिकारियों को भी धन्यवाद देते हैं। पहले दिल्ली जाने में 12-14 घंटे लगते थे, अब ढाई-तीन घंटे में पहुंच जाएंगे। यह जनता के लिये बहुत सुविधाजनक होगा।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस अवसर पर कहा कि लखनउच्च्-आगरा एक्सप्रेस-वे देश के लिए एक शानदार मिसाल बनेगा। इतना बड़ा एक्सप्रेसवे किसी अन्य प्रदेश के पास नहीं है। समाजवादी लोग चुनाव में इन कामों को लेकर जनता के बीच जाएंगे। अखिलेश ने कहा कि जब सड़कें बनती हैं तो साथ-साथ विकास भी चलता है। यह सड़क दिल्ली और लखनऊ जैसी राजधानियों को जोड़ेगी। इसके किनारे उद्योग, पेट्रोल पंप और मंडियां होंगी। आगामी चुनाव के बाद प्रदेश में फिर समाजवादी सरकार बनने पर इस एक्सप्रेस-वे को लखनऊ से आगे गाजीपुर और बलिया तक रिकॉर्ड समय में बनाया जाएगा। यह प्रदेश के एक कोने से दूसरे कोने को जोड़ने का काम करेगा। उन्होंने इस मौके पर वायु सेना के अधिकारियों को भी धन्यवाद दिया और कहा कि यह देश की पहली सड़क है जहां कोई भी हवाई जहाज उतर और उड़ान भी भर सकता है। इसके लिये वह एयर मार्शल एस. बी. पी. सिन्हा समेत तमाम वायुसेना अधिकारियों को धन्यवाद देते हैं। मुख्यमंत्री ने पिछले दिनों एक सड़क हादसे में घायल हुए वरिष्ठ आईएएस अधिकारी नवनीत सहगल को याद करते हुए कहा, ‘जिस अधिकारी ने इस एक्सप्रेस-वे के काम की लगातार निगरानी की, वह इस वक्त हमारे साथ नहीं हैं। वह ठीक हैं लेकिन अभी हमारे बीच नहीं है।’ उन्होंने इस हाइवे पर 100 किलोमीटर प्रतिघंटे से ज्यादा की रफ्तार से गाड़ी ना चलाने की हिदायत दोहरायी।

अखिलेश ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा ‘अभी तो मुद्दा 500 और हजार रुपये के नोट का है। ये चमत्कारी लोग हैं, आगे जाने और क्या मुद्दा ले आएं। उनके पास गिनाने और दिखाने का कोई काम नहीं है।’ सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने इस अवसर पर कहा कि यह अभूतपूर्व उद्घाटन समारोह है, क्योंकि यहां सुखोई और मिराज जैसे आठ फाइटर प्लेन उतरेंगे और उड़ान भरेंगे। उन्होंने कहा कि युद्ध में आमतौर पर दुश्मन हवाई पट्टी पर हमले करते हैं। यह ऐसा एक्सप्रेसवे है जिसका इस्तेमाल सिर्फ आवागमन के लिए ही नहीं होगा बल्कि जरूरत पड़ने पर यह हवाई पट्टी के तौर पर भी काम आएगा। रामगोपाल ने कहा कि मुख्यमंत्री को नेताजी (मुलायम) का आशीर्वाद मिला है। जब अखिलेश दोबारा मुख्यमंत्री बनेंगे तो नेताजी के हाथ इस एक्सप्रेस-वे का बलिया तक का हिस्सा भी लोकार्पित कराया जाएगा। सपा के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव और सरकार के वरिष्ठ काबीना मंत्री आजम खां ने भी इस एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण के लिये मुख्यमंत्री और उनकी सरकार को बधाई दी। इससे पहले, शिवपाल ने रामगोपाल यादव के पैर छुए। अनुशासनहीनता के आरोप में पिछले महीने सपा से निकाले गये रामगोपाल की हाल ही में पार्टी में वापसी हुई है। उनके निष्कासन की घोषणा शिवपाल ने ही की थी।

 

10 रुपए के असली और नकली सिक्के में ऐसे करें अंतर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on November 22, 2016 12:20 am

सबरंग