ताज़ा खबर
 

अयोध्‍या: 5 साधुओं ने साल भर तक मंदिर में किया महिला का बलात्‍कार, बेटी को भी बनाया शिकार

पांचों आरोपी अयोध्या स्थित मंदिर के साधु ही हैं। मुख्य दंडाधिकारी ने अयोध्या पुलिस को जल्द से जल्द इस मामले में मामला दर्ज कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं। पीड़िताएं जानकी निवास मंदिर में रहती हैं।
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पावन नगरी अयोध्या में एक अधेड़ उम्र की महिला और उसकी बेटी ने पांच साधुओं पर बलात्कार करने का आरोप लगाया है। पांचों आरोपी अयोध्या स्थित मंदिर के साधु ही हैं। पीड़ित पक्ष ने कार्रवाई को लेकर फैजाबाद पुलिस में मामले की शिकायत दी थी। कुछ नहीं होने पर पीड़िताओं ने अब न्याय की आस में स्थानीय अदालत का दरवाजा खटखटाया है। मुख्य दंडाधिकारी ने अयोध्या पुलिस को जल्द से जल्द इस मामले में मामला दर्ज कर कार्रवाई के आदेश दिए हैं। पीड़िताएं यहीं अयोध्या के जानकी निवास मंदिर में रहती हैं। उनका आरोप है कि पांचों आरोपी साधु भी उसी मंदिर के हैं। वे बीते एक साल से उनका बलात्कार करते आ रहे थे। हद तो तब हो गई जब दो फरवरी 2017 को उन्होंने पीड़िता की बेटी को भी अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया। ऐसे में उनसे बर्दाश्त ना हुआ और वे मामले की शिकायत करने पुलिस के पास पहुंचीं। सबसे हैरान करने वाली बात है कि पुलिस ने इस मामले में पांचों आरोपी साधुओं के खिलाफ शिकायत भी लेनी जरूरी नहीं समझी। आरोपियों में सुदामा दास, संजय दास, रामकुमार दास, गुलशन दास और रघुवर शामिल हैं। यही नहीं, इनके साथ नैना देवी नाम की साध्वी दासी भी दोनों को परेशान किया करती थी। पीड़ित पक्ष की शिकायत के आधार पर मामला फैजाबाद कोर्ट में है। पीड़ित पक्ष की ओर से दायर की गई याचिका पर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी राजेश पराशर ने शनिवार को अयोध्या पुलिस को पांचों साधुओं के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज कर कार्रवाई का आदेश जारी किया है।

वहीं राज्य के जालौन में भी दिल दहलाने वाली घटना सामने आई। जहां पति को बंधक बनाकर उसके सामने ही पत्नी से गैंगरेप किया गया। यहां आठ लोगों पर महिला से रेप करने का आरोप लगा है। खबर के अनुसार आरोपियों ने गैंगरेप के बाद लूटपाट की और उन्हें सड़क पर फेंककर फरार हो गए। दूसरी तरफ पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। मामला गुरुवार (4 मई, 2017) का बताया जा रहा है। पुलिस के अनुसार जालौन के रहने वाले दंपत्ति जयपुर से घर वापस आ रहे थे। ट्रेन से औरेया पहुंचने के बाद वो घर जाने के लिए किसी वाहन का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान एक वैन ड्राइवर ने लिफ्ट ऑफर की जिसके बाद दोनों गाड़ी में सवार हो गए। जानकारी के अनुसार कुछ देर बाद वैन एक शराब की दुकान पर रुकी जहां कुछ और लोग वैन में सवार हो गए। बाद में गाड़ी को सुनसान जगह लेकर पति को बंधक उसके आंखों के सामने ही गैंगरेप किया गया। पीड़ितों के शोर मचाने पर धमकी और गालियां दी गई। पीड़ित इसकी शिकायत लेकर शुक्रवार (5 मई, 2017) को पुलिस के पास गई। पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपियों की धड़पकड़ के लिए छानबीन शुरू कर दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.
सबरंग