ताज़ा खबर
 

सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर में 30 बच्चों की तड़प-तड़पकर मौत, BRD अस्पताल में खत्म हो गया था ऑक्सीजन

मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी का अस्पताल पर लगभग 69 लाख रुपये बकाया था। पैसे ना मिलने पर कंपनी ने लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति रोक दी।
गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में 48 घंटे में 30 बच्चों की मौत से कोहराम मच गया है। (Photo-ANI)

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से इस वक्त एक बड़ी खबर आ रही है। यहां पिछले 48 घंटों में 30 बच्चों की मौत हो गई है। ये घटना गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक मेडिकल कॉलेज के आईसीयू और इंसेफलाइटिस वार्ड में ऑक्सीजन की सप्लाई ठप होने से इन बच्चों की मौत हुई है। गोरखपुर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्य नाथ का इलाका है। योगी आदित्य नाथ इसी इलाके से इस वक्त सांसद हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में दिमागी बुखार की वजह से कई बच्चे अस्पताल में भर्ती थे। गोरखपुर समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई इलाके दिमागी बुखार से प्रभावित हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक अस्पताल के इस वार्ड में गुरुवार रात 11.30 बजे से ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हो गई थी। ये सिलसिला सुबह 9 बजे तक चलता रहा। इसकी वजह से 30 बच्चों ने तड़प तड़प कर दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद अस्पताल में कोहराम मचा हुआ है। जिला प्रशासन ने अबतक सात बच्चों की मौत की पुष्टि की है। खबरों के मुताबिक इस मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी का अस्पताल पर लगभग 69 लाख रुपये बकाया था। पैसे ना मिलने पर कंपनी ने लिक्विड ऑक्सीजन की आपूर्ति रोक दी। इसके बाद अस्पताल में जंबों सिलेंडरों से गैस सप्लाई की जा रही थी। पहली बार अस्पताल के स्टाफ को रात आठ बजे पता चला कि ऑक्सीजन का स्टॉक खत्म हो गया है। अब तक यहां सिलेंडर से ऑक्सीजन की सप्लाई की जा रही थी। इसके बाद वार्ड को लिक्विड ऑक्सीजन से जोड़ा गया, लेकिन दुर्भाग्य से रात 11.30 बजे ये भी खत्म हो गया।

अब तक अस्पताल में कोहराम मच गया था, लगभग 50 से ज्यादा मरीज बेहोशी की हालत में थे, लेकिन डॉक्टर, नर्स स्टाफ कोई कुछ कहने की हालत में नहीं था। आनन-फानन में वरिष्ठ अधिकारियों को फोन लगाया गया। लेकिन कोई कुछ जवाब देने की हालत में नहीं था। इस बीच राहत की खबर रात 1.30 बजे आई जब ऑक्सीजन सिलेंडर से लदी गाडी आई। लेकिन राहत की ये खबर महज कुछ घंटों के लिए थी। सुबह सात बजे दोबार ऑक्सीजन खत्म हो गई। इसे पूरे मामले में अस्पताल प्रशासन की लापरवाही साफ नजर आ रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. S
    suresh k
    Aug 12, 2017 at 3:16 am
    ओछी मानसिकता उत्तर प्रदेश को ले डूबेगी , मोदी जी की जाति के कितने वोटर है ? वो तो प्रधान मंत्री भी नहीं बनने चाहिए थे ? योगीजी बहुत मेहनती और ईमानदार है तथा चोर , उच्चक्कै गुंडों के लिए काल साबित हो रहे है , उत्तर प्रदेश से ी खबरे आना बंद हो चूका है .
    (0)(0)
    Reply
    1. M
      manish agrawal
      Aug 11, 2017 at 9:23 pm
      30 percent pichhde voters aur 4 percent kshatriy voters
      (0)(0)
      Reply
      1. M
        manish agrawal
        Aug 11, 2017 at 9:21 pm
        योगीजी का सारा ध्यान सिर्फ मुसलमानों को प्रताड़ित करने में लगा है , governance के लिए उनके पास समय ही नहीं है ! योगीजी कभी बरसों से चल रहे मुस्लिमों के बूचड़खानों की तालाबंदी करते हैं कभी मदरसों की वीडियोग्राफी का तुग़लकी फरमान जारी करते हैं ! बतौर मुख्यमंत्री, योगीजी उत्तरप्रदेश को सुशासन देने में पूरी तरह नाकामयाब रहे ! भारतीय जनता पार्टी ने केशव प्रसाद मौर्य के नेतृत्व में चुनाव लड़कर total वोटर्स के लगभग 30 संख्या वाले पिछड़े मतदाताओं के अधिकाँश votes प्राप्त कर लिए लेकिन सिर्फ 4 voters वाले क्षत्रिय समाज के योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाकर पिछड़े वर्ग को धोखा दिया ! नतीजा सामने है ! चौपट उत्तरप्रदेश ! ना स्वास्थ्य सुविधाएँ हैं ना कानून व्यवस्था ! 3 महीनों में ही योगीजी ने कुशलतम मुख्यमंत्री कांग्रेसमेन स्वर्गीय गोविन्द बल्लभ पंत के उत्तरप्रदेश का कबाड़ा कर दिया ! 30 बच्चों की दर्दनाक मौत का ये पाप , बीजेपी सरकार को ले डूबेगा !
        (0)(0)
        Reply
        1. M
          manish agrawal
          Aug 11, 2017 at 8:53 pm
          30 innocent children ki aisy dardnaak maut ki moral responsibility lete huye Chief Minister Yogi Aditya Nath ko tatkaal Resign kar dena chahiye ! Allahabad High Court ke justice Umanath Singh jese kisi imaandaar judge se matter investigate karaana chahiye ! CBI se investigation ka koyi laabh nahi kyonki Center main bhi BJP Govt hai aur CBI uske control main hai ! Responsible persons ko kathor punishment milna chaahiye !
          (0)(0)
          Reply