ताज़ा खबर
 

यूपी के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा बोले- मुगल हमारे पूर्वज नहीं, लुटेरे थे, अब ये ही इतिहास लिखा जाएगा

दिनेश शर्मा ने कहा, 'उत्तर प्रदेश में हर एक धर्म को समान सम्मान मिलेगा, लेकिन हम लोग पाकिस्तानी-तालिबानी संस्कृति को स्वीकार नहीं करेंगे।
उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा। (File Photo Source: Indian Express Archive)

उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा का मानना है कि मुगलों की भारतीय इतिहास में कोई भूमिका नहीं है, उन्होंने केवल भारत देश को लूटा है। लखनऊ में आज तक सफाईगिरी अवार्ड में एक सवाल का जवाब देते हुए दिनेश शर्मा ने मुगलों को लूटेरा बताकर नया विवाद खड़ा कर दिया। यूपी के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा, ‘मुगल हमारे पूर्वज नहीं थे, वो असलियत में लुटेरे थे। उन्होंने देश को लूटा है। अब ये ही इतिहास लिखा जाएगा।’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में हर एक धर्म को समान सम्मान मिलेगा, लेकिन हम लोग पाकिस्तानी-तालिबानी संस्कृति को स्वीकार नहीं करेंगे।’ दिनेश शर्मा ने कहा यूपी सरकार स्कूलों में नया सेलेब्स लाने के लिए काम कर रही है, यह आधुनिक इतिहास पर आधारित होगा। उन्होंने कहा कि 70 फीसदी NCERT और 30 फीसदी प्रदेश के हिसाब से सेलेब्स बनाया जाएगा।

साथ ही शर्मा ने कहा, ‘आधुनिकता के परिवेश में हम लोग हमारे गौरवशाली इतिहास को भूलने लगे हैं। हमें नए समाज का निर्माण करना होगा। ऐसा नहीं है कि हम लोग मुगलों को स्कूली पाठ्यक्रम से हटाएंगे। लेकिन जैसा उन्होंने काम किया, वैसा ही लिखा जाएगा। अगर किसी मुगल शासक ने अच्छा काम किया है तो अच्छा लिखा जाएगा और किसी ने बुरा किया है तो बुरा लिखा जाएगा। ताजमहल हमारी संस्कृति का हिस्सा है, लेकिन ताज बनाने वाले के हाथ काट देना हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं हो सकता। यह पाकिस्तानी-तालिबानी संस्कृति है।’

दिनेश शर्मा ने मुगल शासक बहादुरशाह जफर की तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘जब क्रांतिकारी मंगल पांडे ने आजादी की आवाज उठाई तो बहादुर शाह जफर ने उनका समर्थन किया। इसके साथ ही वे गोहत्या के खिलाफ थे। इसलिए हम उनकी तारीफ करते हैं। बहादुरशाह जफर अच्छे शासक थे, इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी म्यांमार में उनकी मजार पर गए थे।’

इसके अलावा शर्मा ने कहा, ‘भारत का जो इतिहास है, उसे कभी फाहियान ने लिखा, कभी तुर्क ने लिखा, कभी मुगल ने लिखा और कभी अंग्रेजों ने लिखा। यह ही हिंदुस्तान की विडंबना रही है। इन्होंने भारत के इतिहास को गुलामी का इतिहास कहकर प्रचारित किया। लेकिन वास्तव में भारत का इतिहास गुलामी का नहीं, बल्कि संघर्षों का इतिहास रहा है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. N
    Nadeem Ansari
    Sep 13, 2017 at 3:36 am
    And what is RSS role in independence of India..read this.. : indianexpress /article/opinion/remembering-the-fall-of-delhi-in-september-1857-4837042/
    (1)(0)
    Reply
    1. N
      Nadeem Ansari
      Sep 13, 2017 at 3:31 am
      This man don't know history..he is RSS parrot..mughals have spent everything here..if you remove Mughals history pages will be blank..Why don't you demolish all monuments made by them...poison is filled in such people and its shame that he is deputy CM
      (1)(0)
      Reply
      1. C
        CCSIN
        Sep 13, 2017 at 9:23 am
        very true... RSS just spread hate in society.
        (1)(0)
        Reply