ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश: विपक्ष की नारेबाजी के चलते राज्यपाल नहीं पढ़ पाये पूरा अभिभाषण

बजट सत्र के पहले दिन हंगामे के चलते राज्यपाल राम नाईक अपना अभिभाषण पूरा नहीं पढ़ सके।
इस पूरे हंगामे में सत्तारूढ़ सपा को भाजपा का साथ मिलता दिखा। सपा के विधायकों की तरह ही भाजपा के सदस्य भी अपने-अपने स्थान पर बैठे रहे।

उत्तर प्रदेश विधानमण्डल के बजट सत्र की आज हंगामेदार शुरुआत हुई। संयुक्त सदन में विपक्षी सदस्यों के शोरगुल और नारेबाजी के चलते राज्यपाल अपना अभिभाषण पूरा नहीं पढ़ सके।

राज्यपाल राम नाईक जैसे ही अपना अभिभाषण पढ़ने के लिये खड़े हुए, बसपा सदस्य ‘राज्यपाल वापस जाओ’ के नारे लगाते हुए सदन के बीचोंबीच आ गये। बसपा, कांग्रेस और रालोद के सदस्य हाथों में सरकार विरोधी नारे लिखे बैनर लहराते देखे गये।

कांग्रेस के सदस्य राहुल गांधी की तस्वीर छपी टोपी लगाये हुए थे। हालांकि इस पूरे हंगामे में सत्तारूढ़ सपा को भाजपा का साथ मिलता दिखा। सपा के विधायकों की तरह ही भाजपा के सदस्य भी अपने-अपने स्थान पर बैठे रहे।

राज्यपाल ने लगभग 20 मिनट तक अपना अभिभाषण पढ़ा, लेकिन इसके बावजूद 109 पेज का अभिभाषण वह पूरा नहीं पढ़ सके। उन्होंने अपने अभिभाषण में सरकार की उपलब्धियों और कामकाज का जिक्र किया और भावी योजनाओं की रूपरेखा के बारे में बताया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.