ताज़ा खबर
 

यूपी सरकार हुई सख्त, दिया धुआं छोड़ने वाले वाहनों को सीज करने का आदेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जंगलों की अवैध कटान और लगातार हो रहे अवैध खनन से पर्यावरण को गम्भीर खतरा पैदा हो गया है।
Author , लखनऊ | November 10, 2017 20:15 pm
उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (फोटो सोर्स- PTI)

उत्तर प्रदेश सरकार धुआं-धुंध (स्मॉग) को लेकर बेहद गंभीर हो रही है। स्मॉग के कहर से निपटने के लिए परिवहन विभाग ने कड़ा रुख अख्तिायार कर लिया है। परिवहन विभाग ने एनसीआर समेत आठ जिलों में जहरीला धुंआ छोड़ रहे करीब चार लाख डीजल और पेट्रोल वाहनों को सीज करने का आदेश जारी कर दिया है। आदेश में दस वर्ष से पुराने चार पहिया डीजल और 15 वर्ष पुराने पेट्रोल वाहनों को शामिल किया गया है। प्रमुख सचिव परिवहन ने सभी आरटीओ और एआरटीओ को आदेश जारी कर यह निर्देश दिए हैं।

परिवहन विभाग की अपर मुख्य सचिव आराधना शुक्ला के मुताबिक, एनजीटी के आदेश के बाद सख्त कार्रवाई की जा रही है। जहां सभी 10-15 साल पुराने डीजल और पेट्रोल वाहनों को सीज करने का आदेश दिया गया है। उल्लेखनीय है कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के सख्त आदेश के बाद योगी सरकार भी एक्शन में आ गई है। परिवहन विभाग ने गाजियाबाद, मेरठ, मुजफ्फरनगर, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, बुलंदशहर, शामली, बागपत व हापुड़ में चल रहे 10 वर्ष से पुराने 97043 डीजल वाहन और 15 वर्ष से पुराने तीन लाख 74 हजार 775 पेट्रोल वाहनों को सीज करने का आदेश जारी कर दिया है। इस आदेश के बाद से वाहन मालिकों में खलबली मच गई है।

उल्लेखनीय है कि देश की राजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत के कई शहरों में आसमान में छाई धुंध को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि यह धुंध पर्यावरण के नष्ट होने का नतीजा है। योगी ने कहा कि जंगलों की अवैध कटान और लगातार हो रहे अवैध खनन से पर्यावरण को गम्भीर खतरा पैदा हो गया है। अगर इसे मिलकर रोकने का प्रयास न किया गया तो पूरे मानव जीवन को खतरा पैदा हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने बलरामपुर के देवी पाटन शक्ति पीठ में आयोजित एक सभा में कहा, ”पर्यावरण के नष्ट होने से आज धुंध छाई हुई है जिससे लोगों को सांस लेने में दिक्कतें हो रही है और लोग सांस के मरीज होते जा रहे हैं।”

उन्होंने कहा, ‘‘हम गौ गंगा गायत्री बचाने की बात तो करते हैं लेकिन यह काम केवल सन्तों पर ही नहीं छोड़ दिया जाना चाहिए। आज लोग सड़कों पर पॉलिथीन फेंक देते हैं जिसे खाकर गौमाता सड़कों पर दम तोड़ रही है। इसे रोकने का प्रयास किया जाना चाहिए।’’ योगी ने कहा कि धर्म का मतलब केवल पूजा पाठ ही नहीं होता बल्कि लोक कल्याणकारी कार्य करना होता है। लोगों की पूजा पद्धति अलग-अलग होती है लेकिन सभी का उद्देश्य एक ही होता है। उन्होंने लोगों का आहवान करते हुए कहा कि जब घर में बेटी पैदा हो तो उसके नाम से पांच पेड़ लगाएं। वहीं पेड़ आगे काम आएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.